breaking news New

बुजुर्ग दंपति ने तोड़ा दम, एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

बुजुर्ग दंपति ने तोड़ा दम, एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

मुरैना ।  मंडप में सात फेरे लेते हुए हर सुख-दुख में साथ देने और सात जन्म सात निभाने का वादा किया था। इस वादे को 67 साल तक पूरी ईमानदारी से निभाया और दुनिया से एक साथ विदा हो गए। यह कोई फिल्मी कहानी नहीं, बल्कि मुरैना जिले के कैलारस के चमरगवां गांव के बुजुर्ग दंपति की सच्चाई है। बुजुर्ग पति-पत्नी ने साथ दम तोड़ा, उनके प्यार को स्वजन व ग्रामीणों ने भी पूरा सम्मान दिया और एक ही चिता पर लिटाकर दोनों का हाथ थमाकर अंतिम संस्कार किया।

चमरगवां गांव के 85 वर्षीय भागचंद जाटव और 81 साल की उनकी पत्नी दोटी जाटव की शादी को 67 साल से ज्यादा हो गए। गत रात दोनों ने पूरे परिवार के साथ खाना खाया। बेटे व नातियों से बातें की और उसके बाद दोनों बुजुर्ग दंपति रोज की तरह अपने कमरे में सोने चले गए। सुबह दोनों की की एक साथ अचानक मृत्यु हो गई। ग्रामीणों दोनों को दुल्हा-दुल्हन के रूप में सजाया और एक साथ एक ही चिता पर दोनों को मुखाग्नि दी।