अयोध्या में नहीं मिला एक भी कोरोना पॉजिटिव , जिला प्रशासन और सक्रिय

अयोध्या में नहीं मिला  एक भी कोरोना पॉजिटिव , जिला प्रशासन और सक्रिय


अयोध्या।  भारत के पीएम  नरेंद्र मोदी ने ग्लोबल  महामारी  के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन  पार्ट- 2 की घोषणा  की। इसके बाद  बाद जिला प्रशासन और सक्रिय हो गया है।  हालांकि अयोध्या  के लिए राहत की बात यह है कि  अभी तक यहां एक भी कोरोना पॉजिटिव मामला  नहीं मिला  है और जिला प्रशासन की कोशिश इसी ट्रैक को मेंटेन करने में लगी  है।  प्रधानमंत्री की ओर से दिए गए निर्देश का कड़ाई से पालन कराने की रणनीति पर काम शुरू कराया गया है। 

जिला प्रशासन द्वारा  लॉकडाउन का कड़ाई से अनुपालन कराने के लिए केवल होम डिलीवरी को ही प्रोत्साहन दिए जाने की हिदायत दी गई है।  लॉकडाउन के दूसरे चरण की घोषणा के बाद मंगलवार को जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी के साथ अयोध्या शहर समेत आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण किया।  शहर क्षेत्र में खुली दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन को देखा और कुछ किराना की दुकानों पर होम डिलीवरी के लिए संबंधित दुकानदार का नंबर न चस्पा होने पर कड़ी नाराजगी जताई और तत्काल मोबाइल नंबर चस्पा कराने की हिदायत दी. शहर के चौक, फतेहगंज, मकबरा, नाका क्षेत्र और शहर से सटे भरतकुंड,भदरसा बाजार तथा गांव क्षेत्र, कैल केशवपुर, कैल डिहवा, कैल पारा, सरैया छतिरवा, प्रभात नगर, मऊशिवाला, पलिया शाहबदी आदि क्षेत्रों का भ्रमण कर लॉकडाउन का जायजा लिया। 

 जिलाधिकारी व एसएससी ने बताया कि यद्यपि अभी जिले में कोरोना का कोई मरीज नहीं पाया गया है।  बावजूद इसके लॉकडाउन को और सख्त किया जाएगा।  जिससे संक्रमण फैलने की कोई गुंजाइश न रहे।  सभी दुकानदारों को होम डिलीवरी की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए है।  सभी दवा व राशन के दुकानों के बाहर होम डिलीवरी का मोबाइल नंबर चस्पा हो, इसका कड़ाई से अनुपालन कराने का जिम्मा चौकी इंचार्ज को दिया गया है।  होम डिलीवरी के लिए 300 किसानों के वाहनों समेत दूध के लिए 218 और फल, सब्जी व राशन के लिए 525 वाहनों को पास निर्गत किया गया है। 

chandra shekhar