breaking news New

राहत : कोरोना से लड़ने 850 करोड़ की आर्थिक मदद जारी...मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, 'संसाधनों की कमी नहीं होने देंगे, दृढ़ इच्छाशक्ति से करें मुकाबला...आयुष्मान कार्ड से भी होगा मुफत इलाज

राहत : कोरोना से लड़ने 850 करोड़ की आर्थिक मदद जारी...मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, 'संसाधनों की कमी नहीं होने देंगे, दृढ़ इच्छाशक्ति से करें मुकाबला...आयुष्मान कार्ड से भी होगा मुफत इलाज

जनधारा समाचार
रायपुर.  कोरोना महामारी की शुरुआत से अब तक कोरोना नियंत्रण के विभिन्न उपायों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने विभिन्न मदों से 853 करोड़ रूपए से अधिक राशि का आवंटन किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रशासनिक अमले से अपील की है कि वह दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ पीड़ित मानवता की सेवा करे। शासन -प्रशासन पूरी संवेदनशीलता के साथ संसाधनों की व्यवस्था और मानीटरिंग करेंगे। किसी भी प्रकार की कमी नहीं होने दी जाएगी।


उल्लेखनीय है कि विगत एक वर्ष में कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष से समस्त 28 जिलों को 73.53 करोड़ रूपये आवंटित किए गये हैं ।इसके अलावा 300 करोड़ रू.जांच, दवा तथा अन्य उपभोग्य सामग्रियों के लिए, 192 करोड़ रू.स्टेट डिजास्टर रिलीफ़ फंड, 185 करोड़ रू. नाबार्ड सहायता , 25 करोड़ रू.लोक निर्माण विभाग,78 करोड़ रू.केंद्र-राज्य शामिलाती सहायता के शामिल हैं। इस प्रकार जांच से लेकर कोविड अस्पतालों के विकास तक ,मरीजों की देखभाल ,दवा ,पोषण से लेकर मैदानी व्यवस्थाओं तक सभी कार्यों के लिए आर्थिक सहायता दी गई है।

मुख्यमंत्री बघेल ने मुख्यसचिव यथा अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य)को निर्देश दिए हैं कि वे निरंतर मॉनीटरिंग करें। नियंत्रण और राहत के उपाय युद्ध स्तर पर सुनिश्चित किए जाएं। मैदानी स्तर पर पूर्ण सख्ती हो लेकिन जनता को सहानुभूति, सद्व्यवहार तथा सहयोग के साथ ही परिस्थितियों का सामना करने को तैयार किया जाए।सतत जनजागरण से  संक्रमण की रोकथाम की जाए।

आयुष्मान कार्ड से अब मुफ्त इलाज

कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अब जिले के सभी निजी अस्पतालों में भी आयुष्मान कार्ड से कोरोना का मुफ्त इलाज की सुविधा शुरू कर दी गई है. यह सुविधा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के और नगरी प्रशासन एवं विकास तथा जिले के प्रभारी मंत्री शिव डहरिया के निर्देश अनुसार जिला प्रशासन सरगुजा द्वारा शुरू किया गया है.

मुख्यमंत्री की भूपेश बघेल की मंशा अनुसार जिला प्रशासन सरगुजा द्वारा आयुष्मान कार्ड से निजी अस्पतालों में निशुल्क इलाज की कवायद शुरू की गई इस व्यवस्था से शासकीय अस्पतालों के साथ ही निजी अस्पतालों में भी मरीज निशुल्क इलाज करा सकेंगे. मरीज से डिस्चार्ज होने पर बिल का भुगतान आयुष्मान कार्ड से ही होगा, इसमें इलाज का पूरा खर्च मरीज के आयुष्मान खाते से ही निजी अस्पतालों को प्रदान किया जाएगा.

हालांकि राजधानी रायपुर में अभी यह योजना लागू हुई है या नही, इसका पता नही चल सका है. कलेक्टर से बात करने की कोशिश की गई मगर व्यवस्तता के चलते बात नही हो सकी. जानते चलें कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी संभाग मुख्यालयों में समाज प्रमुखों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद के दौरान अपनी सहनशीलता का परिचय देते हुए कोरोना के इलाज की व्यवस्था को सुलभ को विस्तारित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए थे.

इसके पहले भी कुछ जिलों में इसे लागू किया जा चुका है जिसके बाद कोरोना मरीजों को काफी राहत मिली है. जानते चलें कि जनधारा24 ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया था कि किस तरह निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर लाखों के बिल थमाए जा रहे हैं. इस​लिए निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्ड से मुफ्त इलाज मिलने से गरीब तबके के मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी.