breaking news New

50 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मंगवाने की योजना : रूस से 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की पहली खेप पहुंचा जयपुर

50 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर  मंगवाने की योजना : रूस से 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की पहली खेप पहुंचा जयपुर

जयपुर।  राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में हो रही ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए करीब 50 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर  मंगवाने की योजना बनाई है।
डॉ. शर्मा ने आज बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर  की उपलब्धता और खरीद के लिए चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुबोध अग्रवाल के नेतृत्व में प्रीतम बी यशवंत एवं टीना डाबी की टीम ऑक्सीजन कंसंटेªटर का निर्माण करने वाले देश जैसे रूस, चीन, दुबई आदि से संपर्क कर मंगवाने की व्यवस्था कर रही है।
उन्होंने बताया कि रूस से 100 ऑक्सीजन कंसंटेªटर की पहली खेप आज जयपुर पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि रूस से कुल 1250 ऑक्सीजन कंसंटेªटर भी सप्ताह भर में पहुंच जाएंगे। उन्होने कहा कि श्री गहलोत के निर्देश पर प्रदेश के तीन मंत्रियों की टीम ने दिल्ली जाकर गृहमंत्री अमित शाह, नितिन गड़करी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, रेल मंत्री पीयूष गोयल, फार्मा मंत्री एवं केंद्रीय चिकित्सा मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मुलाकात कर राज्य में कोरोना की वजह से हो रही हालात से अवगत कराया।
डा शर्मा ने बताया कि प्रदेश में 615 मेट्रिक टन ऑक्सीजन के मुकाबले भारत सरकार ने 270 मेट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध करवा रही है। इसमें से 100 मेट्रिक टन भिवाड़ी, 70 जामनगर, 60 कलिंगनगर और 40 मेट्रिक टन ऑक्सीजन बुरहानपुर से मिल रही है। इन जगहों से ऑक्सीजन लाने में कई दिन लग जाते लेकिन बेहतर योजना बनाकर रेल और एयरफोर्स के जरिए लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि इसके अलावा श्री गहलोत ने वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स की उपलब्धता और प्रदेश में ऑक्सीजन उत्पादन के 59 प्लांट लगाने का भी निर्णय लिया। इन प्लांटों के स्थापित होने के बाद करीब 120 मेट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त की जा सकेगी।