breaking news New

नगर निगम जगदलपुर और विकासखण्ड मुख्यालय में आयोजित किए जाएंगे दिव्यांगता मूल्यांकन शिविर

नगर निगम जगदलपुर और विकासखण्ड मुख्यालय में आयोजित किए जाएंगे दिव्यांगता मूल्यांकन शिविर

जगदलपुर।  बस्तर जिले के दिव्यांगजनों को निःशुल्क कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण प्रदान करने के लिए दिव्यांगता मूल्यांकन शिविर का आयोजन किया जाएगा। यह शिविर जगदलपुर नगर निगम के साथ ही सभी विकासखण्ड मुख्यालय में भी आयोजित किए जाएंगे।

यह शिविर 9 मई से 19 मई तक आयोजित किए जाएंगे। समाज कल्याण विभाग की उप संचालक द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार  9 मई को सामुदायिक भवन बकावंड में, 10 मई को वीर सावरकर भवन जगदलपुर में , 11 मई को सामुदायिक भवन दरभा में, 12 मई को सामुदायिक भवन लोहण्डीगुड़ा में, 13 मई को सामुदायिक भवन बस्तर में 17 मई को सामुदायिक भवन तोकापाल में, 18 मई को जनपद पंचायत कार्यालय परिसर बास्तानार और 19 मई को जनपद पंचायत कार्यालय परिसर आड़ावाल में शिविर आयोजित किए जाएंगे।

इस शिविर के माध्यम से दिव्यांगजनों  को निःशुल्क ट्रायसिकल, व्हीलचेयर, वाकिंग स्टिक, रोलेटर, बैशाखी, श्रवण यंत्र, ब्लाइंड स्टिक, टेबलेट, ब्रेल किट, स्मार्ट फोन, एडीएल किट, एमआईडीसी किट, सीपी चेयर, सर्वाइकल कालर इत्यादि प्रदान करने के लिए मूल्यांकन किया जाएगा। 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगता के साथ 15 हजार रुपए से कम मासिक आय वाले दिव्यांगों को निःशुल्क उपकरण प्रदान किए जाएंगे।

आमचो बस्तर हेरीटेज सोसायटी में भर्ती हेतु वॉक इन इंटरव्यू बादल एकेडमी और महिला पाॅलिटेक्निक काॅलेज में जगदलपुर, 29 अप्रैल आमचो बस्तर हेरीटेज सोसायटी के अंतर्गत विभिन्न अनियमित पदों पर भर्ती के लिए आवेदनकर्ता पद हेतु निर्धारित साक्षात्कार दिनांक को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.00 तक भरे हुए आवेदन आसना स्थित बादल एकेडमी में लिए गए जाएंगे।

संयुक्त कलेक्टर श्री हितेश बघेल ने बताया कि दोपहर 12.00 बजे के बाद प्राप्त आवेदनों पर विचार नही किया जाएगा तथा दस्तावेज परीक्षण उपरांत पात्र आवेदकों का साक्षात्कार बादल एकेडमी में लिया जाएगा। सहा ग्रेड- 03 पद के लिए आवेदन एक मई को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.00 बजे तक भरे हुए आवेदन फार्म, महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज धरमपुरा जगदलपुर में लिए जाएंगे। दस्तावेज परीक्षण उपरांत पात्र आवेदको का कौशल परीक्षा लिया जायेगा।

निजी और सार्वजनिक आयोजनों के लिए लेनी होगी पूर्व अनुमतिजगदलपुर, 29 अप्रैल निजी, सार्वजनिक, धार्मिक, राजनैतिक व अन्य संगठनों व संस्थाओं द्वारा आयोजित किए जाने वाले धरना, जुलूस, रैली, प्रदर्शन, भूख हड़ताल, सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक आयोजनों के लिए जिला प्रशासन से पूर्वानुमति लेना अनिवार्य कर दिय गया है तथा इसकी जिम्मेदारी संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को दी गई है। जिला प्रशासन द्वारा यह व्यवस्था रुट परिवर्तन, आम नागरिकों के आवागमन, बाजार व्यवस्था एवं सुरक्षा को देखते हुए की गई है।