breaking news New

दो दिन की आवक को मिली जगह, हर समस्या पर है नजर

दो दिन की आवक को मिली जगह, हर समस्या पर है नजर

राजकुमार मल

भाटापारा, 31 मई। दो दिन की आवक को मंडी प्रांगण में जगह दिलाने में मिली सफलता के बाद, अब तैयारी है, कारोबारी सप्ताह की आवक को संभालने की। प्रयास किए जा रहे हैं कि जिस दिन गाड़ियां आएं, उसी दिन उसे जगह मिल जाए। इसमें कुछ व्यावहारिक दिक्कत आडे़ आ रही है लेकिन भरोसा है कि सभी के सहयोग से इस समस्या को भी दूर कर लिया जाएगा।

लॉकडाउन के बाद खुली कृषि उपज मंडी में आवक अब रोज बढ़त ले रही है। बीते सप्ताह व्यवस्था कुछ कमजोर जरूर होती नजर आई लेकिन समय रहते, इसे दूर कर लिया गया। अब  भरपूर आवक को जगह दिलाने के प्रयास किए जा रहे हैं ताकि अगले दिन का काम-काज व्यवस्थित रहे। यह उस समय सफल होती नजर आई ,जब मुख्य द्वार समय पर खोल दिए गए और एक-एक कर गाड़ियों को प्रवेश दिया गया। अब बारी है दूसरे दिन की आवक के लिए  जगह की उपलब्धता सुनिश्चित करना। इस पर भी काम किया जा रहा है।


ऐसी रही आवक

दो दिन की आवक के बाद प्रांगण का हर हिस्सा पूरी तरह पैक रहा। धान, दलहन-तिलहन को मिलाकर लगभग 45 हजार कट्टा की आवक का अनुमान लगाया जा रहा है।  रविवार की शाम हल्की बारिश ने प्रांगण में रखी कृषि उपज को नुकसान पहुंचाया था, इससे भाव में कमी की आशंका थी, लेकिन शुरुआती भाव संतोषजनक बताए जा रहे हैं। बता दें कि कुल आवक में 80 फ़ीसदी हिस्सेदारी के साथ धान अव्वल नंबर पर रहा।

मंथन अब इस पर

भरपूर आवक और अनलोड। यह दो ऐसी जरूरी बातें हैं, जिस पर प्राथमिकता के साथ नजर रखना होगा। प्रबंधन का प्रयास है कि  गाड़ियां उसी दिन खाली हो जाएं, ऐसी व्यवस्था करनी होगी, लिहाजा अब इसे सिरे से ही दुरुस्त किए जाने के लिए मंथन के साथ तत्काल कदम उठाए जाने की तैयारी है। इसमें सभी का सहयोग लिया जाएगा ताकि व्यवस्था पटरी पर बनी रहे।

 त्रुटियां दूर करके व्यवस्था बनाने के निर्देश मंडी सचिव को दिए जा चुके  हैं।

- इंदिरा देवहारी, एसडीएम, भाटापारा

कृषि उपज लेकर आ रही गाड़ियां उसी दिन अनलोड हो जाएं। इसके लिए जरूरी उपाय किए जा रहे हैं।

- सुरेश चौरे ,सचिव, कृषि उपज मंडी, भाटापारा