breaking news New

पंडित राजेन्द्र शर्मा ने व्यास पीठ से कहा -भागवत कथा से मिलता है मोक्ष मातृत्व सेवा से मिलता है स्वर्ग

पंडित राजेन्द्र शर्मा ने व्यास पीठ से कहा -भागवत कथा से मिलता है मोक्ष मातृत्व सेवा से मिलता है स्वर्ग

  सक्ती।   जीवन रेखा परम पवित्र बोरई नदी के तट पर अवस्थित पावन ग्राम टेमर के पुण्य धरा पर छाया अशोक पटेल परिवार के द्वारा स्मृति शेष परिजनों के मोक्षार्थ व सर्व कामना पूर्ति हेतु आयोजित भागवत कथा में व्यास पीठ पर पंडित राजेन्द्र शर्मा के द्वारा भक्तिमय वातावरण में कालदमन संहार एवम रुकमणी विवाह की कथा सुनाई गई। 


उन्होंने कथा में कहा - भगवान हर कार्य के लिए पहले से ही समय निर्धारित किया रहता है और कभी भी किसी को किसी प्रकार की परेशानी होती है उससे घबराना नहीं चाहिए जिस मैया का खेवरिया कृष्ण कन्हैया हो ऐसे भक्तों को नैया पार भगवान कृष्ण ही लगाते हैं उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को भगवान का स्मरण करना चाहिए जो भगवान को याद करते हैं उन्हें भगवान याद करते हैं !

श्रीमद् भागवत कथा के षष्ठम दिवस पर भागवत प्रवाह आध्यात्मिक सेवा संस्थान छ0ग0 के संरक्षक चितरंजन पटेल व्यासपीठ की पूजा अर्चना कर भगवत अमर कथा का रसपान किया।

व्यास पीठ से सत्संग की महिमा को बताते हुए आचार्य राजेंद्र शर्मा ने कहा कि सत्संग से ही भगवत प्राप्ति होती है तथा कलियुग में भागवत कथा श्रवण से ही मोक्ष प्राप्ति संभव है।


भागवत प्रवाह के संरक्षक चितरंजय पटेल ने बताया कि भागवत प्रवाह  आध्यात्मिक सेवा संस्थान छत्तीसगढ़ के सान्निध्य में अनवरत भागवत कथा का अविरल प्रवाह के साथ समाज सेवा के कार्य भी अनवरत जारी है। 


इसी तारतम्य में आज मातृ दिवस पर समाज में अपने सद्कर्मों व उपलब्धियों में मिसाल कायम करने वाली सात मातृ शक्ति  का सौभाग्य माला, वस्त्र  श्रीफल देकर अभिनंदन व सम्मान कर व्यास पीठ से समाज को एक नई दिशा देने का प्रयास किया गया जिसका उपस्थित श्रोताओं ने मातृ सेवा भाव को देखकर मंत्रमुग्ध हो गए