breaking news New

हाट-बाजार क्लीनिक का सुचारू संचालन करने के निर्देश

हाट-बाजार क्लीनिक का सुचारू संचालन करने के निर्देश

रायगढ़ । कलेक्टर  भीम सिंह ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक ली। इस मौके पर उन्होंने सभी एसडीएम को मुख्यमंत्री  बघेल की मंशानुरूप सभी ब्लाकों में हाट-बाजार क्लीनिक का सुचारू संचालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गांवों में जिस दिन क्लीनिक संचालन होना है, उससे एक दिन पहले वहां मुनादी भी करवाये ताकि वहां के लोग एवं आसपास के रहवासी इसका लाभ उठा सके। सभी एसडीएम इसका लगातार मॉनिटरिंग भी करने के लिए निर्देशित किया।

कलेक्टर  सिंह ने बैठक में गोधन न्याय योजना के संबंध में चर्चा की। उन्होंने सभी गौठानों में गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण की जानकारी लेते हुये कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने गौठानों में तैयार वर्मी कम्पोस्ट को जल्द से जल्द सोसायटियों में भिजवाने के साथ ही  कृषि, उद्यान, रेशम विभाग सहित उद्योगों में भी भेजने के निर्देश दिए। गौठान में कार्यरत महिला समूहों के नियमित भुगतान का विशेष ध्यान रखने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि हर गोठान में चारागाह होना चाहिये।

कलेक्टर  सिंह नेे सभी एसडीएम को जहां खाद बीज के ब्लेक मार्केटिंग की शिकायत मिल रही है वहां तुरंत निरीक्षण कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। साथ ही खाद की गुणवत्ता व मानकता की जांच करने एवं खाद महंगे दामों में बेचे जाने की शिकायतों पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जनपद सीईओ को गोठानों में मल्टी एक्टिविटी के कार्यों पर विशेष ध्यान देने को कहा ताकि स्व-सहायता समूहों की आय में वृद्धि हो सके। कलेक्टर  सिंह ने उद्योग विभाग के अधिकारी को इंडस्ट्रीज के मांग अनुसार स्व-सहायता समूहों से पूर्ति करने के निर्देश दिए। उन्होंने सीईओ को स्व-सहायता समूह और उद्योगों के साथ एक कमेटी बनाने के निर्देश दिए, जिससे उद्योगों में लगने वाले जूता, जैकेट, सेफ्टी बेल्ट, फिनाईल, झाडू आदि की पूर्ति स्व-सहायता समूहों द्वारा की जा सके।

कलेक्टर  सिंह ने जिले में धान के बदले अन्य फसल लगाने वाले कृषकों की भी जानकारी ली। उन्होंने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के गाईड लाईन का पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी एसडीएम को चल रहे गिरदावरी कार्यों की भी नियमित जांच करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने श्रम अधिकारी को सभी श्रमिकों का स्वास्थ्य कार्ड बनाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर  सिंह ने मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन पाईप लाईन के कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने वन अधिकार पत्र प्राप्त हितग्राहियों के मनरेगा अंतर्गत स्वीकृत कार्यों की जानकारी ली तथा अधिक से अधिक संख्या में उन्हें लाभान्वित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने मुख्यमंत्री जनचौपाल, कलेक्टर जनचौपाल तथा पीजी पोर्टल के लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की एवं विभागवार लंबित प्रकरणों को जल्द पूरा करने के निर्देश।

कलेक्टर  सिंह ने धरमजयगढ़ विकासखण्ड के ग्राम-खलबोरा को गरीबी मुक्त गांव के बनाने के लिए तैयार की गई कार्ययोजना के अनुसार वहां के लोगों को मुर्गीपालन, बकरी पालन, मत्स्य पालन जैसे विभिन्न योजनाओं से जोडक़र लाभान्वित करने के निर्देश दिए जिससे वे सक्षम बनकर आर्थिक रूप से विकसित हो सके। इस दौरान रोजगार अधिकारी ने बताया कि खलबोरा गांव की 57 महिलाएं सिलाई-कढ़ाई, टू-व्हीलर प्रशिक्षण, मोबाईल प्रशिक्षण सहित एवं अन्य गतिविधियों से संबंधित प्रशिक्षण लेने की इच्छुक है। कलेक्टर  सिंह ने रोजगार अधिकारी को कहा कि ट्राईबल विभाग से संपर्क करते हुये उन सभी महिलाओं को प्रशिक्षण दिलाना सुनिश्चित करें।

बैठक में नगर निगम आयुक्त  एस.जयवर्धन, डीएफओ धरमजयगढ़  मणिवासगन एस, डीएफओ रायगढ़  प्रणय मिश्र, सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल, अपर कलेक्टर  आर.ए.कुरूवंशी सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

शत-प्रतिशत कोविड की पहली खुराक लगाने वाला रायगढ़ राज्य का पहला जिला, सभी को बधाई

कलेक्टर  सिंह ने कहा कि राज्य में रायगढ़ जिला कोविड वैक्सीनेशन के प्रथम डोज में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने पर मुख्यमंत्री  बघेल ने ट्वीट के माध्यम से जिले को बधाई दी है। जो हमारे लिए गर्व की बात है। यह आप सभी की साझी मेहनत से ही संभव हो सका है। आगे भी हमें वैक्सीनेशन सेकेण्ड डोज को फोकस करते हुये निरंतर इस दिशा में कार्य करना होगा। जिससे जिला पूर्ण रूप से टीकाकृत हो सके।