देश को संकट में डालने वाली तब्लीकी जमात को लेकर कांग्रेस मौन क्यो - डॉ सलीम राज

देश को संकट में डालने वाली तब्लीकी जमात को लेकर कांग्रेस मौन क्यो - डॉ सलीम राज

कांग्रेस स्पष्ट कर वो जमातियों के साथ है या उनके खिलाफ

धमतरी, 11 अप्रैल। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सलीम राज ने आज कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुये कहा कि संकट की इस घड़ी में जब कोरोना से लड़ रहे योद्धाओं की सेवा करना हो या गरीब जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराना हो तो कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व से लेकर स्थानीय कार्यकर्ता तक सभी नदारद हैं। जैसा कि देखा गया है कि देश मे जब भी कोई आपदा आती है तो माँ भारती की सेवा में सबसे पहले  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक आगे आते हैं। आज भी देश भर में संघ के स्वयंसेवक जरूरतमंदों की सेवा में निरंतर लगे हुये हैं। कांग्रेस पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता न तो अन्न बांटते नज़र आ रहा न जरूरतमंदों को मास्क सैनेटाइज़र जैसी आवश्यक वस्तुएँ बांटते नज़र आ रहे। छग में कांग्रेस सरकार संदिग्धों की जांच में भी पूरी तरह ढिलाई बरत रही। जांच रिपोर्ट में प्रदेश से 159 लोगों के मरकज से लौटने की सूचना प्राप्त हुई थी जिसमे से 52 लोग अभी तक लापता हैं जिनकी तलाश में गंभीरता दिखाने के बजाये मुख्यमंत्री यह कहते नज़र आ रहे हैं कि मरकज से 107 लोग ही लौट कर छग आये थे। जितने लोगों का अब तक पता चला है उन सभी की जांच रिपोर्ट भी अभी तक प्राप्त नहीं हो सकी। जो 52 लोग कहीं छुपे हुये हैं वो प्रदेश के लिए कितना बड़ा खतरा हो सकते हैं इसको लेकर सरकार को कोई चिंता नही है। 

कहीं न कहीं सरकार वोट बैंक की राजनीति के चलते जमातियों की धर पकड़ और कार्यवाही करने में ढिलाई कर रही है। संघ जैसी देशभक्त संस्था पर प्रतिबंध लगाने वाली कांग्रेस कानूनों की धज्जियां उड़ाने वाले और देश के अधिकांश राज्यों में कोरोना फैलाने वाली तब्लीकी जमात पर प्रतिबंध लगाने की बात कहने से बचते नज़र आ रही। इतना ही नही बल्कि कांग्रेस साम्प्रदायिकता की आड़ लेकर उनका बचाव भी कर रही। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बयान जारी कर अपने कार्यकताओं से कहा है कि हमारा कोई भी कार्यकर्ता जमात की देश विरोधी हरकतों के लिये पूरी कौम को दोषी न माने और उनके विरुद्ध बयानबाजी से बचे। कांग्रेस के नेता ही इस मामले को हिन्दू मुस्लिम रंग देने का प्रयास कर रहे। 

कांग्रेस को अपनी स्थिति स्पष्ट करना चाहिये कि देश भर में कोरोना के सबसे बड़े स्प्रेडर्स तब्लीकी जमात के लोगों के साथ है या खिलाफ। यदि कांग्रेस उनके खिलाफ है तो आज तक जमात के विरुद्ध प्रतिबंध की बात उसने क्यो नही की। जिन स्थानों पर जमातियों द्वारा उत्पात मचाया जा रहा डॉक्टर पुलिस स्वास्थ्य कर्मियों पर थूकने पत्थरबाजी करने जांच में असहयोग करने तथा मस्जिदों में जाकर छिपने का प्रयास किया जा रहा उनके विरुद्ध कार्यवाही करने को लेकर भी कांग्रेस पार्टी उदासीन रवैया अपनाये हुये है जिससे स्पष्ट है कि कांग्रेस वोट की राजनीति के चलते जमातियों को बचाना चाहती है। श्री राज ने मुस्लिम भाइयों से भी अपील की है कौम को बदनाम करने वाले इन जमातियों का समर्थन बिल्कुल न करें और इनकी करतूतों को देश के सामने लाने में शासन प्रशासन की मदद करें।