breaking news New

पति को परमेश्वर का दर्जा भारतीय सनातन की सभ्यता व संस्कार : विधायक रंजना साहू, करवा चौथ पूजा कर ,पंरपरा व संस्कृति का किया निर्वहन

 पति को परमेश्वर का दर्जा भारतीय सनातन की सभ्यता व  संस्कार : विधायक रंजना साहू, करवा चौथ पूजा कर ,पंरपरा व संस्कृति का किया निर्वहन

धमतरी।  भारत की सनातन धर्म सभ्यता व  संस्कार में पति को परमेश्वर का दर्जा दिया गया है, पति और पत्नी के रिश्ते को हमारे विभिन्न पर्व प्रगाढ़ता प्रदान करते हुए पवित्रता के ऊंचे सोपान पर स्थापित करते हैं।  इन्हीं पर्वों में एक महत्वपूर्ण पर्व करवा चौथ है, जिसमें दिनभर पत्नी व्रत रखते हुए रात को भगवान चंद्रदेव के दर्शन कर अपना व्रत तोड़ती है, तथा पूजा अर्चना करते हैं। इस व्रत का महत्वपूर्ण उद्देश्य होता है व्रती महिला के पति दीर्घायु हो, सुखी रहे व समृद्धशाली रहे तथा भारतीय परंपरा व संस्कृति के अनुरूप पति व पत्नी के संबंधों में हमेशा मधुरता रहते हुए गृहस्थ की गाड़ी को चलाते हुए परिवारिक सुख शांति  सभी प्रकार की सपन्नता की चरम ऊंचाई पर ले जाएं। यही भावना को अपने में आत्मसात करते हुए क्षेत्र के जनप्रतिनिधि रँजना साहू ने भी विधायक के रुप में जीवन के इस आपाधापी के बीच अपनी परंपरा व संस्कृति,धार्मिक संस्कार को अपने से जोड़ते हुए विभिन्न महिलाओं के साथ करवा चौथ की पूजा अर्चना कर क्षेत्र के सभी महिलाओं को इस पर्व की बधाई देते हुए कहा कि हमारा सनातन धर्म वह एकमात्र भारतीय संस्कृति है, जहां पति पत्नी के रिश्ते को एक संस्कार के रूप में समाज मानता है। इस सब को बना कर रखते हुए अपने अध्यात्म अपनी धर्म पूर्वजों द्वारा स्थापित परंपरा को मजबूती प्रदान करते हुए आने वाली पीढ़ी को उक्त सारे चीजों का संस्कार देते हुवे सीख देना  ही हमारा धर्म सीखाता है और यही निर्वहन करने की प्रेरणा हमारे तीज त्यौहार व्रत पर्व हमे देते हैं। विधायक श्रीमती साहू ने आगे कहा कि कोविड-19 के इस भीषण दौर में व्रत करने वाली महिलाओं कि दिल से निकली हुई दुआ भगवान से मांगी हुई आशीर्वाद तथा पुरी निश्चलता से की हुई आस्था व श्रद्धा के साथ पूजा ही समाज को इस भीषण महामारी से बचाने के लिए कारगर साबित होगी विधायक ने आगे सभी मातृ शक्तियों को करवा चौथ की बधाई व शुभकामनाएं दी है। क्षेत्र के सभी लोगो जीवन में खुशहाली की प्रार्थना ईश्वर से कि है ।