breaking news New

महाराष्ट्र में एक एंबुलेंस में 22 बॉडी ठूंस दीं, श्मशान में एक चिता पर 3-3 शवों का अंतिम संस्कार

महाराष्ट्र में एक एंबुलेंस में 22 बॉडी ठूंस दीं, श्मशान में एक चिता पर 3-3 शवों का अंतिम संस्कार

22 कोविड पीड़ितों के शवों को एक एम्बुलेंस वैन में रखा गया था, जब उन्हें महाराष्ट्र के बीड जिले के श्मशान में ले जाया जा रहा था। इस घटना ने बीड जिला प्रशासन को मजबूर कर दिया है कि वह घटनास्थल पर जाए और मामले को देखे।घटना की तस्वीरें सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने जांच के आदेश दिए हैं। बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल में रविवार रात तक कोरोना से 30 मरीजों की मौत हुई थी। इनमें से 22 शवों को एक ही एम्बुलेंस में शमशान लाया गया, बाकी के 8 शव दूसरी एंबुलेंस में लाए। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने हॉस्पिटल के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की है।

इस घटना ने लोगो ने नाराजगी जताई, बीड जिला प्रशासन ने इस मामले को देखने के लिए यहां से लगभग 220 किमी दूर अंबाजोगाई में एक टीम को रवाना किया। घटना के एक प्रत्यक्षदर्शी ने आरोप लगाया कि एम्बुलेंस के पास मौजूद पुलिस ने मृतक के कम से कम दो रिश्तेदारों के मोबाइल फोन छीन लिए, जो फिल्माने और एम्बुलेंस में भरे हुए शवों की तस्वीरें क्लिक कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मृतक का अंतिम संस्कार किए जाने के बाद ही उनके फोन वापस किए गए। अधिकारियों ने बताया कि बॉडी बैग में रखे 22 शवों को अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ मराठवाड़ा सरकारी मेडिकल कॉलेज (SRTMGMC) की मर्चुरी से उठाया गया और एम्बुलेंस (MH-29 / AT-0299) में रखा गया।

अधिकारियों ने कहा कि 22 मृतकों में से 14 की शनिवार को और बाकी की रविवार को मौत हो गई थी। लोखंडी सावरगांव जंबो कोविड केंद्र में नौ की मौत हो गई थी। बीड के जिला कलेक्टर रविंद्र जगताप ने कहा, “मैंने अंबजोगाई के अतिरिक्त कलेक्टर को मामले की जांच करने का आदेश दिया है। हम दोषी पाए जाने वाले के खिलाफ कार्रवाई शुरू करेंगे। '