कोरोना से कैसे मिलेगी मुक्ति,जल्द भेजें विचार प्रतियोगिताएं शुरू

कोरोना से कैसे मिलेगी मुक्ति,जल्द भेजें विचार प्रतियोगिताएं शुरू


मानव ससांधन मंत्रालय ने प्रारंभ किया ‘समाधान’ चैलेंज 

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पहले से शुरू कर चुका है ‘सी-3’

रायपुर । कोरोना को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए जहां पूरी दुनिया में युद्धस्तर पर प्रयास हो रहे हैं। वहीं अपने यहां के कई मंत्रालयों ने इस समस्या से निपटने के लिए आपके विचार मांगे हैं। विचार पूरी तरह से तार्किक और वैज्ञानिक आधारित होने चाहिए। इसके लिए बकायदा प्रतियोगिता शुरू की गई है।

मानव ससांधन मंत्रालय ने सोमवार को मेगा ऑनलाइन चैलेंज ‘समाधान’ की शुरुआत की है। जिसमें युवा वर्ग अपने ऐसे विचार भेज सकते हैं जिससे कोरोना जैसी महामारी से निपटने में मदद मिलेगी। इसमें हिस्सा लेने वाले छात्र-छात्राएं ऐसे उपायों की खोज करेंगे जो कि सरकारी एजेंसियों, स्वास्थ्य सेवाओं, अस्पतालों एवं अन्य सेवाओं को असमय आई चुनौतियों का त्वरित समाधान उपलब्ध करवाया जा सके। इस चैलेंज के अंतर्गत छात्र-छात्राओं और फैकल्टी के लोगों को नए प्रयोग एवं नई खोज के लिए प्रेरित करना और उनको उस प्रयोग या खोज का परिक्षण करने के लिए एक मजबूत बेस उपलब्ध करवाना है। ‘समाधान’चैलेंज के जरिये नागरिकों को जागरूक बनाने, चुनौती का सामना करने के लिए प्रेरित करने, किसी भी संकट को रोकने और लोगों को आजीविका दिलवाने में मदद करने का कार्य किया जायेगा।

इस प्रतियोगित में हिस्सा लेने के लिए आवेदन 7 अप्रैल 2020 से लिए जा रहे हैं। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 14 अप्रैल 2020 है। इसमें आगे जाने वाले प्रतिभागियों के नाम 17 अप्रैल 2020 को की जाएगी। आगे जाने वाले प्रतिभागियों को अपनी प्रविष्टियां 18-23 अप्रैल 2020 के बीच में जमा करनी होगी। आखरी लिस्ट 24 अप्रैल 2020 को जारी की जाएगी। इसके बाद 25 अप्रैल 2020 को ग्रैंड ऑनलाइन ज्यूरी अपना निर्णय लेगी। 

कोई भी प्रतियोगिता में हो सकता है शामिल 

सी-3 प्रतियोगिता में कोई भी किसी भी उम्र का व्यक्ति शामिल हो सकता है। विचार पूरी तरह विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर आधारित होने चाहिए। विचार ऐसे होने चाहिए जिससे वायरस कोविड-19 को फैलने से रोकने या उसकी गति धीमा करने में मदद मिल सके। साथ ही ऐसे विचार भी शामिल किए जाएंगे जिससे लाक डाउन के दौरान आवश्यिक वस्तुाओं और सेवाओं के लिए घर से बाहर जाने की जरूरत कम हो सके। लोगों खासकर अकेले रहने वाले बुजुर्गों तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति एवं वितरण करने में मदद मिल सके। ऐसे विचार भी शामिल किए जाएंगे जिससे शरीर, घरेलू वस्तु और सार्वजनिक स्थल को और स्वच्छबनाने में मदद मिल सके। 31 मार्च 2020 से प्रारंभ हो चुकी इस यह प्रतियोगिता की अंतिम तिथि अभी तय नहीं है। विचार भेजते समय प्रेषक अपना नाम, आयु, शिक्षा, व्यवसाय, पता, दूरभाष संख्या व ईमेल अवश्य लिखें। विचार का पूर्ण विवरण टेक्स्ट मैटर, फोटो और वीडियो किसी भी रूप में campaign@nifindia.org भेज सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए मोबाइल नंबर 9632776780 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं।

chandra shekhar