breaking news New

प्रधानमंत्री ने कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन कर दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री ने कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन कर दी श्रद्धांजलि

हमने एक काबिल नेता खोया, उनके सपनों को करना होगा साकार:मोदी

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लखनऊ पहुंचकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख नेताओं में शुमार किए जाने वाले कल्याण सिंह के रविवार को अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. मोदी रविवार पूर्वाह्न लखनऊ के मॉल एवेन्यू स्थित सिंह के आवास पहुंचे, जहां उनका पार्थिव शरीर रखा गया है.

प्रधानमंत्री ने उनके अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस दौरान उनके साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद थे. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह का शनिवार रात सवा नौ बजे लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई (संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान) में निधन हो गया.

वह 89 वर्ष के थे। वह पिछले काफी समय से बीमार थे. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजनेता कल्याण सिंह जी के अंतिम दर्शनार्थ लखनऊ पहुंचे.Ó प्रधानमंत्री मोदी ने कल्याण सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, 'कल्याण सिंह जी समाज के कमजोर और वंचित वर्ग के करोड़ों लोगों की आवाज थे. उन्होंने किसानों, युवाओं और महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए अनगिनत प्रयास किए. उनका समर्पण और सेवाभाव लोगों को हमेशा प्रेरित करता रहेगा.Ó

उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'भारत की सांस्कृतिक विरासत को समृद्ध करने में कल्याण सिंह जी ने अहम भूमिका निभाई. देश की हर पीढ़ी इसके लिए उनकी आभारी रहेगी. वह भारतीय मूल्यों में रचे-बसे थे और अपनी सदियों पुरानी परंपरा को लेकर उन्हें गर्व था.Ó मोदी ने कहा, 'दुख की इस घड़ी में मेरे पास शब्द नहीं हैं. कल्याण सिंह जी जमीन से जुड़े बड़े राजनेता और कुशल प्रशासक होने के साथ-साथ एक महान व्यक्तित्व के स्वामी थे. उत्तर प्रदेश के विकास में उनका योगदान अमिट है. शोक की इस घड़ी में उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं.Ó

पूर्व मुख्यमंत्री के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए लोक भवन और प्रदेश भाजपा कार्यालय में भी रखा जाएगा. उसके बाद उसे अलीगढ़ ले जाया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कल्याण सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है. उन्होंने 23 अगस्त को एक दिन का सार्वजनिक अवकाश की भी घोषणा की है. सिंह का अंतिम संस्कार 23 अगस्त को नरौरा में गंगा तट पर किया जायेगा.

कल्याण सिंह राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख नेताओं में शुमार थे और छह दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने के वक्त उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे. इस घटना के बाद सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, बसपा (बहुजन समाज पार्टी) अध्यक्ष मायावती, राम जन्मभूमि तीर्थ न्यास के महासचिव चंपत राय, भाजपा नेताओं राम विलास वेदांती एवं विनय कटियार, कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी तथा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया.

सिंह को पिछली चार जुलाई को संक्रमण और स्वास्थ्य संबंधी कुछ अन्य समस्याएं होने पर एसजीपीजीआई के गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कराया गया था. उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था और शनिवार रात उनका निधन हो गया.