breaking news New

श्रीराम की विशेषता का बखान : महरूमकला ग्राम मानस संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन

श्रीराम की विशेषता का बखान : महरूमकला ग्राम मानस संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन

ठेलकाडीह।  समीपस्थ ग्राम महरूमकला मे  गुरूवार को मानस संगोष्ठी कार्यक्रम की आयोजन रखा गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व  सांसद, महापौर मधुसूदन यादव  के सानिध्य मे सम्पन्न हुआ वहाँ उपस्थित ग्रामीणों को मानस के माध्यम से भगवान राम के जीवन के विषय मे बताया गया जिससे ग्रामीण भावविभोर हो उठे। 

 मधुसूदन यादव  ने भगवान राम की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राम चन्द्र जी ने माता कौशिल्या और राजा दशरथ के प्रथम संतान थे अश्विन शुक्ल पक्ष की दशमी को रावण का वध किया था इसलिए दशहरा मनाया जाता है  रामायण संगोष्ठी  कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे श्रीमति सरोजनी बंजारे पुर्व विधायक डोंगरगढ़  ने  अपनें उद्बोधन में कहा की भगवान श्री राम चौदह वर्ष की वनवास काटकर अयोध्या जब वापस आये तो वहा के वासियों ने अपने अपने  घर को दीये जलाकर  भगवान श्री राम के स्वागत में पुरे अयोध्या को  रौशन कर दिये और तभी से दीपावली की त्योहार मनाया जाता है। 

 उपरोक्त कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप कमल सोनी जी जिला मिडीया प्रभारी  ,दिनेश ठाकुर सरपंच डुमरडीह कला, जीवन बंजारे पुर्व विधायक प्रतिनिधि, मदन साहु जी, बलराम जागड़े, भोज बंजारे, हरिश्चंद्र साहू, ललित जैन, बुधु गुप्ता, जितेन्द्र वर्मा, तेज वर्मा ,राजेश सेन, पेमेद्र चंदेल, इकेशवर यादव, जुम्मन गुप्ता,महेत्तर गुप्ता, नेमचंद यादव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे