breaking news New

Breaking तेजी से फैलने वाला ओमिक्रॉन गंभीर बीमारी का बनेगा कारण

Breaking तेजी से फैलने वाला ओमिक्रॉन गंभीर बीमारी का बनेगा कारण

 नईदिल्ली। दुनिया में कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से   फैल रहा है. वैरिएंट बहुत ही खतरनाक और घातक है। नए वैरिएंट को देखते हुए कई देशों ने अपनी सीमाओं को फिर से बंद कर दिया है।  

इस बीच अमेरिका के इंफेक्शियस डिसीज एक्सपर्ट डॉ. एंथॉनी फाउची ने कहा कि   लेकिन यह पिछले डेल्टा समेत  अन्य वैरिएंट्स से ज्यादा खतरनाक नहीं है. एएफपी से बातचीत में फाउची ने कहा कि वैरिएंट की पूरी तस्वीर सामने आने में अभी थोड़ा समय और लग सकता है. 

 डॉ. फाउची ने कहा कि ओमिक्रॉन स्पष्ट रूप से अत्यधिक ट्रांसमिसिबल यानी ज्यादा संक्रामक है और संभावित रूप से इसके फैलने की रफ्तार डेल्टा से बहुत ज्यादा है.

इम्यून से बच निकलने की क्षमता: क्या ओमिक्रॉन वैक्सीनेशन या पिछले इंफेक्शन की इम्यूनिटी से बच निकलने में बेहतर है? इसके जवाब में फाउची ने 'हां' बोलते हुए कहा कि पूरी दुनिया से मिल रहा एपिडेमायोलॉजी डेटा खुद इस बात का सबूत है. फाउची ने कहा कि ओमिक्रॉन के खिलाफ मौजूदा वैक्सीन से बनने वाली एंटीबॉडीज की लैब टेस्टिंग का रिजल्ट कुछ दिनों के भीतर आ जाना चाहिए.

 उन्होंने कहा, 'ओमिक्रॉन पिछले वैरिएंट्स की तुलना में कम खतरनाक हो सकता है. अगर आप दक्षिण अफ्रीका की तरफ नजर घुमाएं तो देखेंगे कि वहां संक्रमितों की संख्या और अस्पताल में दाखिल होने वाले मरीजों की संख्या का अनुपात डेल्टा की तुलना में कम है.'

फाउची ने कहा, 'ये अच्छी बात है कि एक तेजी से फैलने वाला वैरिएंट बहुत ज्यादा गंभीर हालात पैदा नहीं कर रहा है और ना ही हॉस्पिटलाइजेशन और मौत का खतरा बढ़ा रहा है. हालात उस वक्त बदतर होंगे जब तेजी से फैलने वाला वैरिएंट गंभीर बीमारी का कारण बनेगा.

कोरोना का नया वैरिएंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में डिटेक्ट किया गया था. लेकिन अब यह तकरीबन 38 देशों में फैल चुका है.