breaking news New

बढ़ते अनाचार व बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेश सरकार के विरूद्ध भाजपा महिला मोर्चा ने भरी हुंकार

बढ़ते अनाचार व बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेश सरकार के विरूद्ध भाजपा महिला मोर्चा ने भरी हुंकार


राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था की बदतरीन स्थिति व प्रदेश की बहन-बेटियों पर लगातार हो रहे अत्याचार को लेकर आज भाजपा महिला मोर्चा ने प्रदेश कांग्रेस सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। नारी उत्पीड़न के बेतहाशा बढ़ते मामलों से आक्रोशित भाजपा महिला मोर्चा ने प्रदेशव्यापी आहवान पर जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन किया, मोर्चा निकाला व राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। 

स्थानीय संजय मार्केट में आज भाजपा महिला मोर्चा ने मातृशक्ति स्वाभिमान मार्च के तहत विशाल धरना दिया। जिसमें बस्तर जिले की प्रत्येक विधानसभा से भारी संख्या में महिलाएं शामिल हुई। भाजपा महिला नेत्रियों ने प्रदेश में ठप्प कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया व ऐसी सरकार को उखाड़ फेकने का आह्वान किया। भाजपा प्रदेश महामंत्री किरण देव ने कहा कि बीते 02 वर्षों में छत्तीसगढ़ में निरंतर अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है और भूपेश सरकार आंख बंद किये बैठी है। कांग्रेस शासन के 02 वर्षों में 17009 मामले सामने आये है, इसमें 2575 मामले केवल बलात्कार के हैं। दुष्कर्म की लगभग 07 घटनाएं रोज सामने आ रही है। यह आंकडे़ राज्य सरकार ने सदन में स्वीकारें है। 

पूर्व सांसद दिनेश कश्यप ने कहा कि कांग्रेस की सरकार महिलाओं का सम्मान नहीं करती। महिलाओं के साथ रोज हो रहे अत्याचार के मामलों से यह बात सिद्ध होती है। 

  भाजपा जिलाध्यक्ष रूपसिंह मण्डावी ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। यह कांग्रेस के कुशासन का असली चेहरा है। 

भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश मंत्री दीप्ति पाण्डे ने कहा कि बस्तर अंचल में भी ऐसा अशांत वातावरण शासन प्रशासन की अनदेखी से बन रहा है। जगदलपुर मेटगुड़ा की नाबालिक लड़की को 02 लाख रूपये में बेचने की घटना प्रकाश में आयी। ऐसे ही भानपुरी थाना क्षेत्र के कुंगारपाल चिटकीपदर में 50 वर्षीय महिला के साथ अनाचार की घटना हुई। प्रदेश में कानून व्यवस्था का नामोंनिशान नहीं दिखता है। 

भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष रामकुमारी यादव ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि महिलाओं के खिलाफ बेतहाशा बढ़ते अपराधों के बाद भी कांग्रेस सरकार सुध नहीं ले रही है। छत्तीसगढ़ की यह संस्कृति कभी नही रही कि महिलाएं घर से बाहर निकलने से घबराएं लेकिन कांग्रेस के 02 साल के शासन में महिलाएं अब स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। धरना को जिला पंचायत अध्यक्ष वेदवती कश्यप, गोदावरी साहू, प्रमीला कपूर, ललिता बघेल, स्नेहलता बैस, शालिनी सेमसन, रंजीता जोशी, मालती मण्डावी, रामवती मण्डावी, बुटकी कश्यप, रूखमणी बघेल ने भी संबोधित किया। धरने के बाद भाजपा महिला मोर्चा व कार्यकर्ताओं ने पैदल मार्च भी निकाला व बदहाल कानून व्यवस्था के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। महिला मोर्चा ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपा। कार्यक्रम का संचालन भारती श्रीवास्तव ने किया। आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से रोशन सिसोदिया, किरण सेन, पदमा कश्यप, अन्नपूर्णा नायडू, इंद्रा सिन्हा, सरिता पानीग्राही, गुरमीत कौर, ममता पोटाई, त्रिवेणी रंधारी, मीता मुखर्जी, ममता राणा, उमा मिश्रा, बैदुराम कश्यप, लच्छूराम कश्यप, मनीराम कश्यप, योगेन्द्र पाण्डे, श्रीनिवास मिश्रा, श्रीधर ओझा, रामाश्रय सिंह, वेदप्रकाश पाण्डे, रजनीश पानीग्राही, सुरेश गुप्ता, मनोहरदत्त तिवारी, अविनाश श्रीवास्तव, आर्येन्द्र सिंह आर्य, संग्राम सिंह राणा, सुब्रतो विश्वास, राजेन्द्र बाजपेयी, राजपाल कसेर, धनसिंह नायक, आलोक अवस्थी, मनीष पारख, अतुल सिम्हा, फरीस बेसरा,संतोष बघेल, प्रकाश झा, धीरज मेहरा, गणेश काले, निर्देश दीवान, लच्छिन यादव, राधेश्याम पंद्रे, मनोज पटेल, जितेन्द्र पानीग्राही, दंतेश्वर राव नायडू,परेश ताटी, विनय राजू,राममूर्ति पाण्डे, आलेख तिवारी, मयंक नत्थानी, रोहित खत्री, अनिमेश चौहान, बंटू पाण्डे, अमित तिवारी आदि सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।