breaking news New

लोगों को जागरूक करने 27 मार्च को एनीमिया और कुपोषण दहन कार्यक्रम होगा आयोजित

लोगों को जागरूक करने 27 मार्च को एनीमिया और कुपोषण दहन कार्यक्रम होगा आयोजित

जिले को एनीमिया और कुपोषण मुक्त बनाने लगातार किया जा रहा कार्य

गौरेला पेण्ड्रा मरवाही, 23 मार्च।  जिले की कलेक्टर नम्रता गांधी द्वारा गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले को एनीमिया और कुपोषण मुक्त बनाने के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। इसी तारतम्य में उन्होंने जिले के लोगों को जागरूक करने और इस अभियान को सफल बनाने के लिए  27 मार्च 2021 को जिला स्तर और विकासखंड स्तर पर एनीमिया और कुपोषण दहन कार्यक्रम आयोजित किए जाने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही कलेक्टर ने सभी जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों को उनके संबंधित ग्रामों में एनीमिया और कुपोषण दूर करने के लिए जिम्मेदारी पूर्वक जमीनी स्तर पर कार्य किए जाने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर के दिशा-निर्देशन में  जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही को एनीमिया मुक्त करने की कवायद में विगत दिवस जिले में 14 से 35 वर्ष के किशोरी एवम महिलाओं  की हीमोग्लोबिन की मात्रा की जांच कि गई है। जिसमें विकासखंड गौरेला से 34 मरवाही से 32 एवम पेंड्रा से 17 महिलाये गंभीर एनीमिक मिले साथ ही गौरेला में 1482  ,पेंड्रा में 498  तथा 534 मरवाही विकासखंड में मध्यम एनिमिक पाए गए हैं। जिन्हें उपचार पूर्व सिकलसेल की जांच की जा रही है ताकि एनीमिक होने के मुख्य कारणों की जानकारी लेकर सही उपचार एवं खानपान के उचित परामर्श से ठीक किया जा सके । 

कलेक्टर द्वारा जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों के लिए नियुक्त किए गए नोडल अधिकारियों को जिले को कुपोषण और एनीमिया  मुक्त बनाने के लिए पूरी जिम्मेदारी पूर्वक  कार्य किए जाने के स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने प्रत्येक नोडल अधिकारियों को उनके संबंधित ग्रामों में निवासरत एनीमिया एवं कुपोषण से ग्रसित महिलाओं और किशोरियों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए व्यक्तिगत रूप से उनके घरों में नियमित दवाइयों का सेवन, खानपान के परामर्श इत्यादि आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए निरंतर निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं जिससे गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले को पूर्णत: एनीमिया और कुपोषण से मुक्त जिला बनाया जा सके।