breaking news New

विकास विस्तार अधिकारियों ने दो सूत्रीय मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन

विकास विस्तार अधिकारियों ने दो सूत्रीय मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन


रायपुर- पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधीन पदस्थ प्रदेश के विकास विस्तार अधिकारी पदेन अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा अपने दो सूत्रीय मांगों को लेकर दिनांक 02/10/2021 की विभागीय मंत्री  टी.एस.सिंहदेव  को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन सौपे जाने हेतु संघ के द्वारा बाकायदा मंत्री के निवास पर सभाकक्ष में  डेलिगेशन का आयोजन किया।ज्ञापन के संबंध में  छत्तीसगढ़ विकास विस्तार अधिकारी संघ  के प्रांतीय अध्यक्ष यूनुस कुरैशी द्वारा संघ की 2 सूत्रीय मांगों पर विस्तार से प्रकाश डाला गया जिसमें विकास विस्तार अधिकारी पदेन अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को द्वितीय श्रेणी राजपत्रित अधिकारी घोषित किया जाने की मांग रखते हुए बताया कि विकास विस्तार अधिकारी को शासन द्वारा वर्ष 2008 में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी घोषित किया गया है।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत के अनुपस्थिति एवं अवकाश अवधि पर प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी नियुक्त जाता है किंतु विकास विस्तार अधिकारी का पद अराजपत्रित श्रेणी का होने के कारण उन्हें वित्तीय अधिकार नहीं दिया जाता है। जिसके कारण सौपे गए दायित्वों के निर्वहन में   व्यवहारिक एवं वैधानिक कठिनाई आती है। आगे  कुरैशी द्वारा  मंत्री  को अवगत कराया कि विकास विस्तार अधिकारी पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए शासन के विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में अहम भूमिका निभाते हैं। अतः इन बातों को दृष्टिगत रखते हुए विकास विस्तार अधिकारी को द्वितीय श्रेणी राजपत्रित घोषित किया जाना उचित होगा।आगे  कुरैशी द्वारा  पदोन्नति पर चर्चा करते हुए बताया कि सहायक विकास विस्तार अधिकारियों की पदोन्नति विकास विस्तार अधिकारियों के पद पर की जाती है, इसके आगे पदोन्नति के कोई अवसर उपलब्ध नहीं होने के कारण विकास विस्तार अधिकारियों को अपने मूल पदों से ही सेवानिवृत्त होना पड़ता है राजस्व विभाग के पदोन्नत्ति सेटअप से अवगत कराते हुवे बताया कि एक नायब तहसीलदार को चार बार पदोन्नत्ति के अवसर प्राप्त है और पी आर डी में ठीक इसके विपरीत है। उक्त संबंध में माननीय मंत्री महोदय से आग्रह किया कि विकास विस्तार अधिकारियों की पदोन्नति मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं सहायक परियोजना अधिकारी के पद पर बहाल की जाए इस पर मा.मंत्री  द्वारा जानकारी चाही  कि पदोन्नत्ति का क्या सेटअप होना चाहिए तब बताया गया कि सहायक विकास विस्तार अधिकारी के पद से क्रमशः विकास विस्तार अधिकारी, मुख्यकार्यपालन अधिकारी एवं उपायुक्त (विकास) तक का पद सोपान हो। श्री कुरैशी द्वारा अनुरोध किया गया कि उक्त दोनों मांगो पर सहानुभूति पूर्वक विचार कर पूरा करने की कृपा करें,जिस पर मंत्री जी पूरी कोशिश करने की बात कही।प्रदेश में कितने सहायक विकास विस्तार अधिकारी तथा विकास विस्तार अधिकारी के पद स्वीकृत हैं तथा विकास विस्तार अधिकारी का वेतनमान संशोधन कर राजपत्रित घोषित करने में राज्य शासन पर कितना वित्तीय भार पड़ेगा,मंत्री जी द्वारा पूंछे जाने पर  ए.पन्ना द्वारा बताया कि सहायक विकास विस्तार अधिकारी के 790 पद तथा विकास विस्तार अधिकारियों के 292 पद स्वीकृत है।आगे बताया कि विकास विस्तार अधिकारी पहले से ही 4200 एवं 4300 ग्रेड पे कार्यरत हैं, यदि 4300 ग्रेड पे निर्धारित करते हुवे   द्वितीय श्रेणी राजपत्रित घोषित किया जाता है,तो किसी प्रकार का राज्य शासन  पर कोई अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं पड़ेगा।  मंत्री महो. द्वारा पदोन्नति के संबंध में जानकारी चाही कि वर्तमान में सहायक विकास विस्तार अधिकारियों की पदोन्नति और पदस्थापना ठीक हुई, जिस पर सुशील पोटाई द्वारा बताया गया कि माननीय मंत्री प्रदेश में आपके कुशल मार्गदर्शन में बड़ी संख्या में सहायक विकास विस्तार अधिकारियों को विकास विस्तार अधिकारी के पद पर पदोन्नत्ति दी गई है, और पदोन्नति पश्चात पदस्थापना अत्यंत पारदर्शिता के साथ हुई इसके लिए आपको कोटि कोटि धन्यवाद। संघ आपका आभारी है।माननीय मंत्री महोदय एवं विकास विस्तार अधिकारी संघ के मध्य डेलिगेशन के सूत्रधार माननीय श्री नितिन उठाई जी अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य के द्वारा माननीय मंत्री जी से समक्ष में निवेदन किया गया कि इनकी मांगों को विशेष रुचि लेकर पूरा करने का प्रयास करेंगे।आपकी बड़ी कृपा होगी,जिस पर  द्वारा पूरी कोशिश कर मांगो को पूरा करने हेतु उपस्थित सदस्यों को आश्वस्त किया संघ के द्वारा मंत्री महोदय को बेतरीन मोमेंटो भेंट की गई।जिस पर मंत्री  द्वारा खुशी जाहिर कर मोमेंटो की तारीफ की गई। 

इस अवसर पर संघ के संरक्षक  के के सेन जं प अभनपुर,उपाध्यक्ष एस.आर.लक्ष्वानी जी, सचिव  बेनु सुखदेव, कोषाध्यक्ष  एम  के बागड़े,एल.एस.साहु, डी.एस.पोया, एच.एस.जुर्री, एस.सी.वैध ज.प.कोयलीबेडा, यू.एस.कुंजाम,युवराज सलाम , आर.के.नायक, डी.के.शाण्डिल्य ज.प.मैनपुर, डी.एस.नागवंशी ,आर.एस.भास्कर, के.आर.नेताम,  एम.एस.पैकरा, आर.एस.साहू, के.के.देवांगन, एस एस उइके, एम.एल.मण्डावी, यु.के.ध्रुव विशेष रूप से उपस्थित रहे।