breaking news New

असम के बाद उत्तरप्रदेश में पर्यवेक्षक बनाये गए प्रदेश सचिव शेखर त्रिपाठी पीसीसी ने बनाया चंदौली का पर्यवेक्षक

असम के बाद उत्तरप्रदेश में पर्यवेक्षक बनाये गए प्रदेश सचिव शेखर त्रिपाठी पीसीसी ने बनाया चंदौली का पर्यवेक्षक


पत्थलगांव, 7 अप्रैल। छग कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव शेखर त्रिपाठी पर भरोसा जताते हुए कांग्रेस ने एक बार फिर उन्हें बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है  इस बार उन्हें उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का पर्यवेक्षक बनाया गया है जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लोकसभा क्षेत्र वाराणसी का बड़ा हिस्सा इसी जिले में भी स्थित है। असम के विधानसभा चुनाव के बाद मिली इस बड़ी जिम्मेदारी से पार्टी में श्री त्रिपाठी का कद बढ़ना तय माना जा रहा है।


उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के प्रदेश सचिव शेखर त्रिपाठी और उनका परिवार एक अर्से से पार्टी में लगातार सक्रिय रहा है। संगठन और पार्टी के प्रति उनके समर्पण का ही परिणाम है पार्टी ने उन्हें प्रदेश सचिव जैसे महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके साथ ही उन्हें विभिन्न चुनावों में पार्टी की ओर से संगठनात्मक कार्यों की जिम्मेदारी सौंपी जाती रही है। हाल ही में श्री त्रिपाठी असम से वापस लौटे हैं। यहां उन्हें असम में चल रहे विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के अन्य दिग्गज नेताओं के साथ ही संगठनात्मक कार्य  की जिम्मेदारी दी गई थी  असम के विधानसभा चुनाव के प्रमुख रणनीतिकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में उन्हें असम की बहरामपुर विधानसभा सीट में चुनाव प्रभारी बनाया गया था इसी सिलसिले में उन्होंने डेढ़ माह तक असम में ही रहकर  कार्य संभाला  यहां से लौटने के बाद अब उन्हें अप्रैल माह में ही उत्तरप्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में चंदौली जिले का पर्यवेक्षक बनाया गया है। 

जानकारी के अनुसार श्री त्रिपाठी जल्द ही चंदौली के लिए रवाना हो जाएंगे। यहां वे जमीनी स्थिति की जानकारी हासिल करने के साथ ही कार्यकर्ताओं के साथ मुलाकात कर इच्छुक उम्मीदवारों के चयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। यह जिम्मेदारी और भी अधिक महत्वपूर्ण इसलिए हो जाती है क्योंकि इस जिले की दो विधानसभाएं वाराणसी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती हैं जो कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लोकसभा क्षेत्र है। श्री त्रिपाठी को बड़ी जिम्मेदारी मिलने से उन्हें समर्थकों में उत्साह की लहर दौड़ गई है।