breaking news New

श्रेय लेने का नहीं, बल्कि जनता के प्राण बचाने का समय है: अखिलेश प्रताप

श्रेय लेने का नहीं, बल्कि जनता के प्राण बचाने का समय है: अखिलेश प्रताप

देवरिया।  उत्तर प्रदेश कांग्रेस में प्रवक्ता और रूद्रपुर के पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने योगी सरकार के एक मंत्री का नाम लिये बगैर तंज कसते हुए कहा कि यह समय श्रेय लेने का नहीं, बल्कि जनता के प्राण बचाने का है।

श्री सिंह ने मंगलवार को कहा “ कोरोना शुरू होते ही अगर देवरिया के रूद्रपुर में कोरोना वार्ड बनवाया होता तो आज क्षेत्र के कई लोगों की ज़िंदगी बचाई जा सकती थी। जब हमने देखा कि सरकार के मंत्री सो रहे है और जनता कोरोना के काल में समा रही है तब मैंने रूद्रपुर में करोना वार्ड बनाये जाने के लिये खुद प्रयास किया।”

उन्होंने कहा कि रूद्रपुर में आक्सीजन युक्त 50 बेड का कोरोना वार्ड की मंजूरी कराई तथा इसके लिये दस लाख रूपये की व्यवस्था कराई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा “ कल तक जो सत्ताभक्त कह रहे थे कि हम प्रयासरत है, अचानक फोटोशाप कर बैक डेट में एक पत्र जारी कर के बीस लाख देने की घोषणा करते हैं।”

श्री सिंह ने कहा कि यह श्रेय लेने का समय नहीं है जनता के प्राण बचाने का समय है।आज समय से कोविड वार्ड बनवा दिये गये होते तो आज जनता श्रेय भी देती और लोगों के प्राण भी बचे होते। जो सत्ता में हैं, उन्हें ज़िम्मेदारी मिली है जो मंत्री, मुख्यमंत्री है जबाबदेही उसी की होती है। रूद्रपुर की जनता को जवाब चाहिये कि एक एक महीने से ज़्यादा समय हो गया है कोरोना के विकराल रूप लिये, रूद्रपुर में कोविड वार्ड क्यों नहीं बना। आक्सिजन की व्यवस्था क्यों नहीं हुई। लोग ईलाज के अभाव में मर क्यों रहे है।