VIDEO : मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी मुक्तेश्वरी बघेल ने दिखाई दरियादिली, चंपारण में फंसे 94 गुजरातियों की ली सुध, दवा, मास्क, भोजन इत्यादि की व्यवस्था कराई

VIDEO : मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी मुक्तेश्वरी बघेल ने दिखाई दरियादिली, चंपारण में फंसे 94 गुजरातियों की ली सुध, दवा, मास्क, भोजन इत्यादि की व्यवस्था कराई

रायपुर. प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण देशव्यापी लॉगडाउन के चलते चंपारण अभनपुर में गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से आये हुए तकरीबन 94 श्रद्धालु फंसे हुए हैं जिनमें महिलाओं की संख्या ज्यादा है।

चंपारण तीर्थ पूरे देश और विदेश में प्रसिद्ध है. यहां पर पुष्टिमार्ग के गुरु वल्लभाचार्य जी का जन्म स्थल है जहां पर पूरे देश और विदेश से श्रद्धालुओं का आवागमन पूरे वर्ष भर लगा रहता है. इन श्रद्धालुओं के तकलीफ की जानकारी जब प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की धर्मपत्नी मुक्तेश्वरी बघेल को हुई तो उन्होंने मानवीयता का परिचय देते हुए तत्काल वहां पर कपड़े से बने 200 मास्क, 100 से अधिक एंटीसेप्टिक साबुन और दूध के पैकेटस की व्यवस्था करवाई। श्रीमती बघेल ने वहां पर रुके हुए सभी श्रद्धालुओं से शांति बनाने की अपील की और कहां कि उनके दवा एवं अन्य रोजमर्रा की सामग्रियों की व्यवस्था करवाई जाएगी।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने बताया कि श्रीमती बघेल के इस दरियादिली और सहयोग को देखकर गुजरात राज्य से आए हुए श्रद्धालुओं की आंखों में आंसू आ गये और उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी धर्मपत्नी के कार्यों की भूरी—भूरी प्रशंसा की और कहा कि हजारों किलोमीटर दूर छत्तीसगढ़ प्रदेश में अपनेपन का अहसास हो रहा है।

See Video :