breaking news New

आत्मसमर्पित नक्सली ने कहा कि मेरी पत्नि को जेल से छुड़वा दीजिये साहब

आत्मसमर्पित नक्सली ने कहा कि मेरी पत्नि को जेल से छुड़वा दीजिये साहब

दंतेवाड़ा। जिले में वेलेंटाइन-डे के खास मौके पर 14 सरेंडर नक्सलियों ने अपनी प्रेमिकाओं के साथ शादी रचाई। कारली हैलीपैड में आयोजित इस विवाह कार्यक्रम में मौजूद 08 लाख का इनामी आत्मसमर्पित नक्सली प्रदीप स्वयं को रोक नहीं पाया। वह काफी भावुक हो गया और दंतेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव के पास पहुंचकर बोलने लगा कि साहब मेरी पत्नी सोढ़ी गंगे सुकमा जिले के गोन्डेरास की रहने वाली है। जो अभी जगदलपुर की जेल में है, उससे मैं बहुत प्यार करता हूं, आज आपने सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों का घर बसवाया। अब मेरी पत्नी को जेल से छुड़वा दीजिये साहब। मैं उसे नक्सल संगठन के दोबारा शामिल नहीं होने दूंगा। एसपी ने प्रदीप की बातें सुनीं और उसे आश्वस्त किया है कि इसके लिए वे जरूर पहल करेंगे। 

        प्रदीप ने बाताया कि वह जबेली निवासी है, पहले नक्सल दबाव के कारण संगठन में शामिल हुआ था। अभी वह डीआरजी की टीम में काम करता है। नक्सल संगठन में रहते हम दोनों को प्रेम हुआ था। नक्सलियों से इजाजत लेकर हमने शादी की, लेकिन बाद में मैंने आत्मसर्मपण किया। पत्नी को सुकमा में पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसके बाद से पत्नी जेल में ही है, पत्नी छूट जाएगी तो हम साथ रहेंगे।