breaking news New

पीड़ित परिजनों को 50 हज़ार रुपए देने की घोषणा ‘जले पर नमक छिड़कना’ जैसा

पीड़ित परिजनों को 50 हज़ार रुपए देने की घोषणा ‘जले पर नमक छिड़कना’ जैसा

कोरोना मृतकों के आंकड़े छिपा रही है दिल्ली सरकार: चौधरी
नयी दिल्ली।  दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार पर कोरोना मृतकों के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि पीड़ित परिजनों को 50 हज़ार रुपए देने की घोषणा ‘जले पर नमक छिड़कना’ जैसा है इसलिए यह राशि बढ़ाई जानी चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार तथा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं विधायक सुभाष चोपड़ा ने बुधवार को यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि केजरीवाल सरकार की हर मृतक परिजन को 50 हज़ार रूपते देने की घोषणा नमक पर घाव छिड़कने की तरह है क्योंकि पीड़ित परिवार के सदस्य लाखों रुपये पहले ही इलाज पर खर्च कर चुके है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को कोरोना के कारण मारे गए लोगों के परिजनों को चार लाख रुपये, 50 हजार रुपये गंभीर मरीजों को तथा दस हज़ार रुपये पेंशन के रूप में उन परिजनों को दी जानी चाहिए जिन्होंने महामारी में अपने परिवार के कमाने वाले सदस्य को खोया है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कोरोनॉ ने सभी की कमर तोड़ दी है इसलिए न्याय योजना के तर्ज़ पर 10 हज़ार रुपये हर महीनों सभी परिवारों को दी जानी चाहिए। उनका कहना था कि रिक्शा चालक, मजदूरों, नाई, धोबी, मेड जैसे असंगठित मजदूरों पर इस महामारी का सबसे अधिक बुरा असर पड़ा है इसलिए उन्हें यह सहायता दी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में अप्रेल से मई 17 के बीच 19 हज़ार 715 लोगो की मौत नगर निगम ने दर्ज की है जबकि इसी दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने 10 हज़ार 462 लोगो की मृत्यु होने का आंकड़ा दिया है जबकि दोनों आंकड़ो के बीच जमीन आसमान का फर्क है। उन्होंने राज्य सरकार पर मौतों के आंकड़े को छुपाने का आरोप लगाया और कहा कि दिल्ली की जनता ने श्री केजरीवाल को तीसरी बार मुख्यमंत्री बनाया लेकिन सरकार से उन्हें सिर्फ खोखले वादें और घोषणाएं ही मिल रही है।