breaking news New

नए गौठान समितियों को गोधन न्याय योजना से अवगत कराने के लिए होंगी कार्यशालाएं

नए गौठान समितियों को गोधन न्याय योजना से अवगत कराने के लिए होंगी कार्यशालाएं


जिला पंचायत सीइओ ने जनपद स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर दिए निर्देश

बैकुण्ठपुर।  कलेक्टर कोरिया ध्याम  धावड़े के निर्देषानुसार सभी नवीन ग्राम गौठान में नरवा गरवा घुरूवा बाड़ी को मूर्त रूप देने के लिए पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय कर तेजी से गौठान निर्माण कार्य पूर्ण किया जा रहा है। इसके साथ ही सभी नवीन ग्राम गौठानों  में  पशुओं  के लिए हरे चारे की व्यवस्था करने के लिए हर ग्राम पंचायत में चारागाहों का विकास किया जा रहा है। आगामी माह से इन नवनिर्मित ग्राम गौठानों में गोबर खरीदी प्रारंभ होनी है इसलिए सभी गौठान प्रबंधन समितियों को इसके उचित प्रबंधन के बारे में विस्तार से अवगत कराया जाना है। जिले के नवीन स्वीकृत गोठानों में बनाई गई ग्राम गौठान प्रबंधन समितियों को आगामी एक सप्ताह में कार्यशालाओं के माध्यम से गोधन न्याय योजना के बारे में विस्तार से अवगत कराया जाएगा। इसके लिए जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और कार्यक्रम अधिकारी अपने जनपद स्तर पर पूर्व से संचालित माडल गौठानों में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित कराने की व्यवस्था करें। उक्ताशय के निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने जनपद पंचायत के अधिकारियों की समीक्षा बैठक के दौरान देते हुए कहा कि जिले के सभी निर्मित गौठानों में गोबर खरीदी और समूहों के माध्यम से किए जाने वाले प्रबंधन के बारे में विस्तार से अवगत कराया जाए। जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि एक सप्ताह में सभी पौधारोपण कार्यों को युद्धस्तर पर तेजी लाते हुए पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।

      सोमवार को जिला पंचायत के मंथन कक्ष में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  कुणाल दुदावत ने विभागीय योजनाओं की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए। महात्मा गांधी नरेगा और अन्य योजनाओं के अभिसरण से होने वाले गौठान निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होने लंबित कार्यों को आगामी सप्ताह में पूर्ण कराते हुए सभी चारागाहों के साथ सघन पौधारोपण कार्य को आगामी सप्ताह में अनिवार्य रूप से पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए। महात्मा गांधी नरेगा के राज्य स्तरीय मानक बिंदुओं पर जनपदों की प्रगति की समीक्षा करते हुए उन्होंने समयबद्ध मजदूरी भुगतान को षत-प्रतिषत रखने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त जिला पंचायत सीइओ ने महात्मा गांधी नरेगा के पूर्ण अपूर्ण कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी पूर्ण कार्यों की उपयोगिता और पूर्णता प्रमाण पत्र ऑनलाइन करने के निर्देश दिए। वनाधिकार पत्रक धारियों को प्रदान किए जाने वाले अकुशल श्रम और संसाधनों की उपलब्धता की समीक्षा करते हुए श्री दुदावत ने सभी कार्यक्रम अधिकारियों को जाब कार्ड सत्यापन कराते हुए लक्षित समूह तैयार कर रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए कहा। उन्होने ग्राम पंचायतों के लेबर बजट के अनुरूप कार्यों की स्वीकृति और उनकी प्रगति पर भी समीक्षा की। मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम को लागू करने के लिए समय सीमा तय करते हुए उन्होने सभी कार्यक्रम अधिकारियों को एक सप्ताह में आवश्यक प्रगति लाने के निर्देश दिए।

समीक्षा बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत स्वीकृत हितग्राहियों के मकान निर्माण की प्रगति पर समीक्षा की। उन्होने भूमिहीन परिवारों के स्वीकृत लगभग एक दर्जन आवास कार्यों के लिए भूमि की उपलब्धता पर जानकारी ली। वंचित वर्ग के लिए स्वीकृत आवास निर्माण की प्रगति पर असंतोष व्यक्त करते हुए सभी जनपद स्तरीय समन्वयकों को जमकर फटकार लगाते हुए कहा कि सभी जनपद पंचायतों में बीते वर्षों के स्वीकृत प्रगतिरत कार्यों को अभियान चलाकर सितंबर माह में पूर्ण करांए। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत चल रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि हाइवे के किनारे बन रहे शौचालयों को प्राथमिकता से पूर्ण कराएं। ग्राम पंचायतों में बन रहे सार्वजनिक शौचालयों, छूटे हुए परिवारों के लिए शौचालय निर्माण आदि की समीक्षा करते हुए उन्होंने कार्यवार  निर्माण की पूर्णता के लिए समय सीमा तय की।इसके अतिरिक्त उन्होंने जिला विकास निधि सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा करते हुए संबंधितों को आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए।