breaking news New

भाजपा प्रशासन का सिंबल बन गई बुलडोजर और केजरीवाल की हिंसा पर चुप्पी

भाजपा प्रशासन का सिंबल बन गई बुलडोजर और केजरीवाल की हिंसा पर चुप्पी

नई दिल्ली  । दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय राजीव भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन एवं पूर्व विधायक  अनिल भारद्वाज ने सम्बोधित करते हुए कहा कि जहांगीर पुरी में दंगो के बाद शांति, सद्भाव, भाईचारा और सौहार्द बहाल करने, न्यायपूर्ण निष्पक्ष जांच और नफरत की राजनीति को हराने के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ अनिल कुमार के नेतृत्व में जंतर मंतर पर धरना देगी।अनिल भारद्वाज ने कहा कि हनुमान जयंती पर जहांगीर पुरी में हुई हिंसा के लिए लोकतंत्र में कोई जगह नही है। दंगे में असमाजिक तत्वों की पहचान करके राजनीतिक प्रभाव को नजरअंदाज करके निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। जहांगीर पुरी दंगों के बाद भाजपा और आम आदमी पार्टी आरोप-प्रत्यारोप में एक दूसरे के सामने खड़ी है।

निगमां के एकीकरण हो जाने के बाद भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता चिठ्ठी  लिखने पर बिना जांच बुलडोजर चलवाकर भाजपा सत्ता का दुरुपयोग कर रही है। अनिल भारद्वाज ने कहा कि जहांगीर पुरी में बुलडोजर चलाने पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्टे देने के बावजूद भाजपा के इशारे पर एक घंटे तक तोडफ़ोड़ जारी रही। जब यह अतिक्रमण 15 वर्षों का है तो बुलडोजर की कार्यवाही निगम विलय के तुरंत बाद किन अधिकारों के तहत की गई है।

उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यवाही पर राजनीतिक दल कैसे निर्णय ले सकते है जबकि अनाधिकृत अतिक्रमण पर कानून के अनुसार कोई भी कार्यवाही बिना राज्यपाल की मंजूरी अथवा कोर्ट के आदेश के नही की जा सकती। भाजपा अध्यक्ष के अध्यक्ष के आदेश पर बुलडोजर की कार्यवाही गैर कानूनी व असंवैधानिक है, जिस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पूरी तरह मौन है, जबकि क्षेत्र की जनता में खौफ बराबर बना हुआ है।

अनिल भारद्वाज ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का स्पष्ट मत है कि सत्ताधारी भाजपा और आम आदमी पार्टी को दंगों के कारण बिगड़े माहौल के बाद सद्भाव, सौहार्द व शांति कायम रखने के लिए काम करना चाहिए, परंतु दोनो एक दूसरे पर आरोप लगाकर नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शहर के वातावरण अच्छा बनाने की जरुरत है और अगर सुधार के लिए बुलडोजर चलाना है तो महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, प्रदूषण को खत्म करने के लिए बुलडोजर चलाना चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने बयान जारी करते हुए कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी की दोनो सरकारें जहांगीर पुरी दंगों के लिए जिम्मेदार हैं, जो धार्मिक उन्माद को बढ़ावा दे रहे है। दंगों से किसकी पूर्ति होती है यह दिल्ली की जनता जान चुकी है।

उन्होंने कहा कि जहांगीर पुरी दंगों पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल मौन है, जबकि मुख्यमंत्री होने के नाते अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए उन्हें सडक़ों उतर कर शांति मार्च निकाल कर लोगों को शांति बहाल करने के लिए समझाना चाहिए था, परंतु एक बार फिर अरविन्द केजरीवाल विफल मुख्यमंत्री साबित हुए हैं।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा निगम चुनावों में अपनी हार से बचने के लिए निगमों का एकीकरण किया था क्योंकि भाजपा पहले से ही जानती थी कि वे निगम चुनाव हार रहे है। उन्होंने कहा कि 15 वर्षों के कुशासन, विफलताओं और भ्रष्टाचार को छिपाने और निगम चुनावों को टालने के लिए भाजपा दंगों को बढ़ावा दे रही है।

दिल्ली कांग्रेस के प्रवक्ता डॉ नरेश कुमार ने कहा कि भाजपा और केजरीवाल के शासन में राजधानी का वातावरण खराब हो गया है और भाजपा प्रशासन का सिंबल बुलडोजर बन गया है और अरविन्द केजरीवाल हिंसा पर चुप्पी साधे हुए हैं।