breaking news New

सरकार के विकास कार्यों से विपक्षी दलों में घबराहट, पड़ने लगे दौरे : योगी

सरकार के विकास कार्यों से विपक्षी दलों में घबराहट, पड़ने लगे दौरे : योगी

विपक्षी दलों में घबराहट 

एटा।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन्द्र और उत्तर प्रदेश सरकार के विकास कार्यों से विपक्षी दलों में घबराहट होने का दावा करते हुये कहा है कि कुछ लोगों को विकास कार्य देख कर दौरे पड़ने लगे हैं।

गंगा एक्सप्रेस वे का उदाहरण

याेगी ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ उत्तर प्रदेश के एटा में बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करते हुये कहा, “कुछ लोगों को विकास के काम देख कर विकास के दौरे पड़ने लगे हैं।” याेगी ने देश के सबसे बड़े गंगा एक्सप्रेस वे का उदाहरण देते हुये कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करेंगे उस दिन भी कुछ लोग कहेंगे कि उन्होंने भी ऐसी सड़क बनाने का सपना देखा था, लेकिन बना नहीं पाये।

दौरे पड़ते हैं 

मुख्यमंत्री ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिये बिना कहा, “अब विकास की योजनाओं को देखकर कुछ लोगों काे दौरे पड़ने लगते हें और उन्हें इस प्रकार के दौरे पड़ते हैं कि वे कहते हैं कि हम भी ये काम करना चाहते थे लेकिन कर नहीं पाये।”

संकट के समय  नदारद

योगी ने कोरोना काल में भी विपक्षी दल कांग्रेस, बसपा और सपा पर नदारद रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन दलों के नेता संकट के समय या तो विदेश चले गये थे या अपने घरों में दुबक कर सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार कर रहे थे।

 बूथ अध्यक्षों से आह्वान 

सम्मेलन को संबोधित करते हुये नड्डा ने कहा कि भाजपा ही एकमात्र पार्टी है जिसमें बूथ का प्रबंधन करने वाले कार्यकर्ता को एक दिन पूरी पार्टी की जिम्मेदारी भी मिलती है। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव का हवाला देकर बूथ अध्यक्षों से आह्वान किया कि अब सही समय है कि एक एक बूथ अध्यक्ष अपने बूथ का सही प्रबंधन करके बूथ जीत कर चुनाव जीत सकते हैं।

 वंशवाद का पोषक 

नड्डा ने कांग्रेस और सपा सहित सभी विपक्षी दलों को वंशवाद का पोषक बताते हुये कहा कि भाजपा का सपना अपने सामान्य कार्यकर्ताओं के सपनों का भारत बनाना है। बाकी दलों का प्राथमिक लक्ष्य राजनीति के जरिये अपने परिवार का हित साधना होता है इसके बाद उनके लिये देश और समाज का हित आता है।

बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन 

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने चुनावी तैयारियों के मद्देनजर अपने बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं को एकजुट करने के लिये प्रदेश के विभिन्न इलाकों में बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन आयोजित किये हैं। इस कड़ी में एटा में चाैथा बूथ सम्मेलन है।