breaking news New

पंजाब पुलिस फिर शर्मसार:रेप का जाल बिछा रहा था पुलिसकर्मी, ग्रामीणों ने रंगे हाथ पकड़ा

पंजाब पुलिस फिर शर्मसार:रेप का जाल बिछा रहा था पुलिसकर्मी, ग्रामीणों ने रंगे हाथ पकड़ा


पंजाब पुलिस के अफसर और कर्मचारी विभाग की छवि कलंकित करने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिले के गांव बाठ में एक महिला के साथ दुष्कर्म कर रहे सीआइए स्टाफ के एएसआइ को लोगों ने रंगे हाथों काबू कर नथाना पुलिस के हवाले कर दिया। पीड़ित महिला के अनुसार कुछ दिन पहले उसके बेटे के खिलाफ पुलिस ने नशा तस्करी का झूठा केस दर्ज किया था। इसके चलते लड़के को बचाने के लिए लगातार उसको ब्लैकमेल कर रहा था जबकि महिला के पति की मौत हो चुकी है। घटना की वीडियाे भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई है।

लिस विभाग ने तुरंत कार्रवाई करते हुए गुरविंदर सिंह को नौकरी से बर्खास्त कर दिया. बताया जा रहा है कि आरोपी ने पुलिस हिरासत में ही आत्महत्या करने की कोशिश भी की. लोगों ने मौके से एएसआइ को पकड़ने के बाद पीड़िता ने बताया कि दो दिन पहले एएसआइ ने उसको आदेश अस्पताल के पास बुलाकर दुष्कर्म किया था। इसके बाद वह घर आने की जिद करने लगा। इस बात से महिला काफी परेशान रहने लगी, जिसने अपने साथ हुई आपबीती अपने पारिवारिक मेंबरों व रिश्तेदारों के अलावा गांव के लोगों को दी। जिसके बाद गांव के लोगों ने फैसला किया कि एएसआइ को रंगे हाथों पकड़ा जाए  क्योंकि अगर वह पुलिस को शिकायत देंगे तो उसकी कोई सुनवाई नहीं होगी।महिला ने जब गांव वासियों को सारी कहानी बताई तो गांव के सरपंच ने उसके घर में खुफिया कैमरे लगा दिए ताकि आरोपी गुरविंदर सिंह को रंगे हाथ पकड़ कर उसे बेनकाब किया जा सके. 

 मंगलवार को योजना के मुताबिक महिला ने रात 8 बजे आरोपी एसआई गुरविंदर सिंह को अपने घर आने को कहा. यह सारा जाल पंचायत के सरपंच कुलविंदर सिंह और पूर्व सरपंच थाना सिंह की देखरेख में बिछाया गया. उन्होंने जानबूझकर घर के दरवाजे की कुंडी खराब कर दी ताकि आरोपी गुरविंदर सिंह भीतर से दरवाजा बंद न कर सके. गुरविंदर सिंह ने जैसे ही महिला के घर में पहुंचकर अपने कपड़े उतारे गांव वालों ने दरवाजा खोलकर उसे दबोच लिया और उसकी जानकारी एसएसपी बठिंडा को देकर उसे पुलिस के हवाले कर दिया. इसके बाद पीड़ित महिला का मेडिकल करवाया गया. आरोपी गुरविंदर सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया.