breaking news New

ब्रेकिंग : निजी स्कूलों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई में जमकर फीस वसूली..संसदीय सचिव और विधायक विकास उपाध्याय प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला से मिले..अस्पतालों की तरह निजी स्कूलों में भी नोडल अधिकारी नियुक्त होंगे

ब्रेकिंग : निजी स्कूलों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई में जमकर फीस वसूली..संसदीय सचिव और विधायक विकास उपाध्याय प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला से मिले..अस्पतालों की तरह निजी स्कूलों में भी नोडल अधिकारी नियुक्त होंगे

रायपुर. संसदीय सचिव और विधायक विकास उपाध्याय ने प्रदेशभर के निजी स्कूलों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई में की गई फीस वृद्धि को लेकर अभियान छेड़ दिया है. इस संदर्भ में उन्होंने स्कूल शिक्षा के प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला से मुलाकात की तथा यह मुददा उठाया. तय हुआ कि इसे लेकर एक बैठक बुलाई जाएगी जिसमें विभाग की ओर से कुछ फैसला लिया जा सकता है.

जानते चलें कि निजी पब्लिक स्कूलों ने कोरोकाल में ऑनलाइन पढ़ाई के बावजूद अपनी फीस कम नही की बल्कि इसे और बढ़ा दिया गया है. हाईकोर्ट और स्कूल शिक्षा के निर्देशों को धता बताते हुए स्कूल प्रबंधन जमकर वसूली कर रहे हैं. जबकि सिर्फ टयूशन फीस लेने को कहा गया था लेकिन सारी फीस को ही टयूशन फीस करार देकर पूरी फीस ली जा रही है.

इसे लेकर अभिभावकों में नाराजगी देखी जा रही है और वे सरकार पर अपना गुस्सा उतार रहे हैं. बहुत से अभिभावकों ने संसदीय सचिव और विधायक विकास उपाध्याय के पास शिकायत दर्ज की थी जिसके बाद उपाध्याय ने ध्यान आकर्षित कराया. उन्होंने मंत्रालय पहुंचकर प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला से मिले तथा निजी स्कूलों द्वारा कोरोना काल के बीच ऑनलाइन पढ़ाई में फीस वृद्धि को लेकर बातचीत की.

विकास उपाध्याय ने विद्यार्थियों और उनके पालकों का पक्ष रखते हुये कहा, इसको लेकर नियम सख्त होना चाहिए. प्रमुख सचिव से लंबी चर्चा के बाद तय हुआ कि अगले सप्ताह इसे लेकर महत्वपूर्ण बैठक होगी. निजी अस्पतालों की तरह निजी स्कूलों के लिए भी नोडल अधिकारी नियुक्त होंगे. फीस निर्धारण को लेकर बनाई गई नियम का सख्ती से पालन होगा जो स्कूल इसकी अवहेलना करेंगे, उन स्कूलों की मान्यता समाप्त होगी.