breaking news New

छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है और यहां के मेहनतकश किसानों ने यह पहचान छत्तीसगढ़ को दिलाई है - श्याम बिहारी जायसवाल

छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है और यहां के मेहनतकश किसानों ने यह पहचान छत्तीसगढ़ को दिलाई है - श्याम बिहारी जायसवाल


चिरमिरी, 18 जून। छत्तीसगढ़ प्रदेश में प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा खरीफ वर्ष 2020-21 में प्रदेश के मेहनतकश किसानों द्वारा उत्पादित किए गये धान की खरीदी के पश्चात कुप्रबंधन की भेंट 10लाख मिट्रिक टन धान की फसल चढ़ गई जिसके जांच हेतु प्रदेश के सभी जिलों में 5-7 सदस्यीय जांच दल का गठन किया गया है।

प्रदेशाध्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है और यहां के मेहनतकश किसानों ने यह पहचान छत्तीसगढ़ को दिलाई है। धान हमारा धन ही नहीं हमारा मान व सम्मान भी है। लेकिन कांग्रेस की सरकार ने ढ़ाई सालों में किसानों को ठगने का काम किया है। प्रदेश के किसानों के रकबा काटने और धान खरीदी में घोर अनियमितता बीते सालों में देखने को मिली है। असमय बारिश के नाम पर भूपेश सरकार ने उर्पाजन केंद्रों व संग्रहण केंद्रों में रखा लाखो टन धान को बारिश से खराब होना एवं सुखती बता कर बड़ा घोटाला करने की योजना है। साथ ही धान को सड़ाकर औने पौने दाम पर शराब माफियाओं को बेचने की इनकी मंशा है। इसकी वास्तविक मात्रा व आंकलन करने हेतु प्रदेश के सभी जिलों में धान उर्पाजन केंद्रों व संग्रहण केंद्रों में जाकर दिनांक 19-20 जून 2021 को जांच करने हेतु भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय एवं प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय के निर्देशानुसार भाजपा किसान मोर्चा छत्तीसगढ़ के प्रदेशाध्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल ने जिलेवार जांच दल की सूची जारी की है, सूची में जिलों के किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष, महामंत्री पदेन होगे साथ ही जिलों के दो वरिष्ठ भाजपा नेता इस दल में शामिल होंगे। 

जो कि जिलों के अंदर धान उर्पाजन केंद्रों व संग्रहण केंद्रों पर जाकर अपनी रिर्पोट तैयार कर आगामी 21 जून को यह रिपोर्ट भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश कार्यालय को सौंपेंगे। इसके साथ ही जांच दल समन्वय समिति का भी गठन किया गया है। जिसमें राष्ट्रीय मंत्री किसान मोर्चा पिंकी शिवराज शाह, प्रदेश प्रभारी किसान मोर्चा संदीप शर्मा, किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल, पूर्व किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष पूनम चंद्राकर, प्रदेश महामंत्री किसान मोर्चा द्वारिकेश पाण्डेय, युधिष्ठिर चंद्राकर, प्रदेश कोषाध्यक्ष प्रीतम सिंह गभेल, प्रदेश उपाध्यक्ष किसान मोर्चा गौरी शंकर श्रीवास, आलोक सिंह ठाकुर को बनाया गया है। जो कि सभी जिलों के जांच दलों से समन्वय स्थापित कर उन्हे उचित सहयोग व रिर्पोट तैयार करवाने का काम करेंगे।