breaking news New

ब्रेकिंग : तिरुपति अस्पताल में 11 मरीजों की मौत..आक्सीजन की कमी होने से गई जान..कई अब भी गंभीर..सीएम रेड्डी ने दिए जांच के आदेश

ब्रेकिंग : तिरुपति अस्पताल में 11 मरीजों की मौत..आक्सीजन की कमी होने से गई जान..कई अब भी गंभीर..सीएम रेड्डी ने दिए जांच के आदेश

पूरे देश में कोरोना वायरस का तांड़व जारी है. उसपर से ऑक्सीजन की कमी मरीजों के लिए जानलेवा साबित हो रही है. ताजा मामला आंध्र प्रदेश के तिरुपति का है, जहां रुइया अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण 11 मरीजों ने दम तोड़ दिया. अस्पताल प्रशासन का कहना है कि ऑक्सीजन टैंकर आना था लेकिन आने में देरी हुई इस कारण 11 मरीजों की जान चली गई.

गौरतलब है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी थी. एक टैंकर ऑक्सीजन लेकर अस्पताल पहुंचने वाला था, लेकिन वो समय पर नहीं पहुंच पाया, जिसके कारण ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहे 11 मरीजों ने दम तोड़ दिया. जिला प्रशासन ने भी 11 मरीजों के मौत की पुष्टी कर दी है. वहीं, आंध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने इस घटना पर दुख जताया है.

अस्पताल में वेंटिलेटर पर है और भी मरीजः रुइया अस्पताल की सुपरिटेंडेंट डॉ. भारती ने बताया कि इस कोविड हॉस्पीटल में करीब 7 सौ मरीजों का इलाज चल रहा है. जिसमें से 135 मरीज वेंटिलेटर पर ऑक्सीजन के सहारे पर हैं. जिसमें कई मरीजों की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है.

सीएम ने दिए जांच के आदेशः प्रदेश के रुइया अस्पताल में 11 मरीजों की मौत से अस्पताल के साथ-साथ जिला प्रशासन हिल गया है. घटना के बाद चित्तूर के जिला कलेक्टर, ज्वॉइंट कलेक्टर समेत कई अधिकारियों ने अस्पताल का दौर किया. इधर, राज्य के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री अल्ला नानी ने रुइया अस्पताल के हालात की जानकारी ली. प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी ने पूरी घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. और जांच रिपोर्ट भी तलब किया है.

बीते दिन आंध्र प्रदेश में कोरोना के 14,986 नए मामले सामने आए हैं. जिसमें 84 लोगों की मौत हो गई है. वहीं कोरोना से ठीक होकर अब तक कुल 16,167 लोग घर लौट चुके हैं. जबकि, कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कुल 8,791 मरीजों की मौत हो गई है. राज्य में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 1,89,367 है.