breaking news New

झारखंड में सरकार गिराने की साजिश, पुलिसिया कार्रवाई पर उठ रहे कई सवाल?

झारखंड में सरकार गिराने की साजिश, पुलिसिया कार्रवाई पर उठ रहे कई सवाल?

रांची।  झारखंड पुलिस सत्ताधारी विधायकों की खरीद-फरोख्त कर हेमंत सोरेन सरकार को अपदस्थ करने के आरोप में तीन लोगों गिरफ्तार किया है।
तीन गिरफ्तार आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। परंतु गिरफ्तार आरोपियों के बारे में जो बातें छन कर सामने आ रही है, उसके अनुसार आरोपी निवारण महतो की बोकारो के दुंदीबाजार में फल की दुकान है और वह 2019 के विधानसभा चुनाव में हिन्दुस्तान आवाम मोर्चा (हम) के टिकट पर मैदान में उतरा था। वहीं दूसरे आरोपी अमित के पिता की दुंदी बाजार में ही चाय-पकौड़ी की दुकान है। इन दोनों के परिजनों ने आरोप लगाया है कि बोकारो सिटी थाने की पुलिस 22 जून की रात करीब डेढ़ बजे उनके घर पहुंची और दोनों को अपने साथ ले गयी। शनिवार 24 जून को मीडिया के माध्यम से यह खबर मिली कि दोनों की गिरफ्तारी रांची के ली लेक होटल से दिखायी गयी है। तीसरा आरोपी रांची के देवी मंडप रोड में रहता है। इस संबंध कांग्रेस विधायक अनूप सिंह उर्फ जयमंगल सिंह द्वारा दर्ज शिकायत के आधार पर राजद्रोह की धारा के साथ आईपीसी की धारा 419, 420, 124 ए,120, बी, पीपुल्स रिप्रेजेंटेशन एक्ट और पीसी एक्ट समेत अन्य धाराओं के मामला दर्ज किया गया है।
सरकार गिराने के ‘खेल’ के खुलासे के साथ ही सियासी बयानबाजी भी तेज हो गयी है।
भारतीय जनता पार्टी सांसद डॉ0 निशिकांत दूबे ने रविवार को पूछा कि इस मामले के साजिशकर्ता राहुल गांधी तो नहीं? निशिकांत दूबे ने ट्वीट कर कहा- ‘‘मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी जानकारी के अनुसार रांची पहुंचा महाराष्ट्र का दारु कारोबारी कांग्रेस विधायक? दिल्ली तक पहुंचा मजदूर का सफर झारखंड कांग्रेस के पदाधिकारी कुमार गौरव के साथ? पुलिस को सूचना देने वाले विधायक अनूप जी कांग्रेस विधायक? साजिशकर्ता राहुल गांधी जी तो नहीं? श्री दूबे ने एक और ट्वीट कर लिखा- मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी, जब एक ही टिकट पर कुमार गौरव दिल्ली गये, तो झारखंड पुलिस ने उनको गिरफ्तार क्यों नहीं किया? पिछड़े वर्ग को आरक्षण नहीं देने के बाद विधायक उमाशंकर यादव और अमित यादव को चोर, मुसलमान फुरकान अंसारी का टिकट काटकर अब कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी को चोर बताकर बेइज्जत किया जा रहा है।’’