breaking news New

हसौद को पूर्ण तहसील का दर्जा देने विधायक केशव चन्द्रा ने मंडी प्रांगण में किया धरना प्रदर्शन

हसौद को पूर्ण तहसील का दर्जा देने विधायक केशव चन्द्रा ने मंडी प्रांगण में किया धरना प्रदर्शन


आरोप है कि 19 साल बाद भी नही मिला तहसील का दर्जा..

हर स्तर पर की गई पूर्ण तहसील का दर्जा देने की मांग मगर है अधूरी

अब सक्ती बन चुका है जिला..इस लिए ग्रामीणों की सुविधा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है हसौद का पूर्ण तहसील बनना

विधायक केशव चन्द्रा ने हजारों की संख्या में राज्यपाल के नाम पर नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौपे

जांजगीर/  जांजगीर-चांपा जिले के जैजैपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम हसौद को शासन ने उप तहसील का दर्जा दिये है जिसे अब पूर्णतहसील का दर्जा देने की मांग को लेकर आज जैजैपुर विधायक केशव चंद्रा ने मंडी प्रांगण में पूर्व सूचना के अनुरूप धरना में बैठ गए 

दरअसल 25 जनवरी 2002 को हसौद को उप तहसील का दर्जा दिया गया था मगर  19 साल बाद भी हसौद उप तहसील केवल नाम का रह गया है। धरना पर बैठे विधायक केशव चंद्रा ने बताया 

 कि सबके इच्छा था कि हसौद तहसील बन जाये लेकिन पहली बार धरना प्रदर्शन के माध्यम से हो रहा है यह आंदोलन की आवश्यकता क्यो पड़ा कल तक तहसील में कार्य हो जा रहा था लेकिन आज लोक सेवा केंद्र में आवेदन देना पड़ेगा प्रदेश में किसका भी सरकार रहेगा लेकिन जनता से बड़ा नही होगा विकास की बात है जिसको हम शहर में देखते थे ओ आज गांव में देखने को मिल रहा है विकास की  वह सुविधा नही है जो टांग खिंचे देने वाले मांग करेंगे तो जनता किससे मांगे देर हो रहा है लेकिन न्याय जरूर मिलेगा 


सुदीप पाल ने कहा कि लोग कहते है कि दो बसपा विधायक है इन लोग क्या कर लेंगे लेकिन मैं बताना चाहता हु कि ये विधायक लड़ाकू विधायक है जो प्रत्येक ग्राम पंचायत में विकास हुआ है  एक विधायक 89 विधायक को मात दे दिया है

सुरेश चन्द्रा ने कहा कि आप लोग जानते ही होंगे 6 सितंबर को जैजैपुर में धरना प्रदर्शन हो रहा था वैसे ही अधिकारियों का फोन आने लगा और साथ ही खाद चार से पांच गाड़ी आने लगा और अभी भी खाद की समस्या बनी हुई है  मंत्री ने भी सराहना विधायक का किया  क्योंकि हर समस्या को सदन में रझकर कार्य कर रहे है छत्तीसगढ़ में टावर लाइन जब लगने लगा तो किसी किसान को मुआवजा नही दे रहा था तो केशव चन्द्रा ने सदन में उठाया तो पूरा छत्तीसगढ़ की किसानों को मुआवजा मिला आज हसौद को पूर्ण तहसील की मांग करने के लिए धरना प्रदर्शन किया जा रहा है सभी नया नया जिला बना सकते है लेकिन हसौद को काहे अपेक्षित किया जा रहा है जबकि यहाँ किसी भी अधिकारी की नियुक्ति नही है सरकार तक धरना प्रदर्शन के माध्यम से माग को पहुचाया जा रहा है सभी के उद्बोधन के बाद सभी धरना प्रदर्शन में शामिल हुए लोगो ने एक साथ रैली निकालकर राज्यपाल के नाम पर नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौपे जो एक चर्चा की विषय बना हुआ है