breaking news New

खुली सुपर पावर की पोल, कोरोना वायरस का अगला केंद्र हो सकता है अमेरिका

खुली सुपर पावर की पोल, कोरोना वायरस का अगला केंद्र हो सकता है अमेरिका


वाशिंगटन।  कोरोना वायरस के खतरे ने सुपर पावर  और  सबसे विकसित और संपन्न देशों की भी पोल खोल कर रख दी है. पिछले महीने  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया था कि अमेरिका में कोरोना वायरस पूरी तरह से कंट्रोल में है लेकिन अब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने आगाह किया है कि पूरी दुनिया को ठप कर देने वाले कोरोना वायरस का अगला केंद्र अमेरिका हो सकता है। 


अमेरिका में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने सरकार की आधी-अधूरी तैयारी और अमेरिकी हेल्थकेयर सिस्टम में अव्यवस्था का पर्दाफाश कर दिया है. जब हेल्थ एक्सपर्ट्स दुनिया को पूरी तैयारी से रहने की सलाह दे रहे थे तो अमेरिका की सरकार ने कोरोना के खतरे को लगातार कम करके दिखाने की कोशिश की. 


 अमेरिका में अब तक 54,941 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जबकि 784 लोगों की मौत हो चुकी है. सोमवार को सिर्फ एक दिन में ही यहां 100 लोगों की मौतें हो गईं. कोरोना के मामलों में ये तेजी हैरान करने वाली है क्योंकि दो सप्ताह पहले ही अमेरिका में कोरोना वायरस के 2000 से भी कम मामले थे. अमेरिका कोरोना वायरस के हॉटस्पॉट बने इटली जैसे देशों को भी पीछे छोड़ सकता है.


चंद्र शेखर अग्रवाल 

आज की जनधारा 


विश्लेषकों को आशंका है कि अमेरिका में कम टेस्टिंग की वजह से कोरोना वायरस संक्रमण के तमाम मामले अभी तक सामने नहीं आ पा रहे हैं और कुछ वक्त में यह बड़ा संकट बनकर उभरेगा.