breaking news New

शहीद भगत सिंह ब्रिगेड प्रदेश अध्यक्ष राकेश अग्रवाल ने किया ध्वाजारोहण

शहीद भगत सिंह ब्रिगेड प्रदेश अध्यक्ष राकेश अग्रवाल ने किया ध्वाजारोहण

खरसिया! शहीद भगतसिंह ब्रिगेड छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष राकेश अग्रवाल "गायत्री " ने देश के महान राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर सोसल डिस्टेन्सिन का पालन करते हुए मुख्यातिथि के रूप में खरसिया नगर के वार्ड नंबर 3 झाँसी की रानी लक्ष्मी बाई वार्ड के बच्चों के एक ॴगनवाड़ी  ध्वाजारोहण कार्यक्रम में सम्मिलित हुए ध्वजारोहण कर आजादी के लिए अपने सर्वस्त्र न्योछावर करने वाले लाखों वीर शहीदों की कुर्बानी को याद करते हुए !

उन्होंने श्रद्धा सुमन पुष्प अर्पित किया और नगर वासियों को संबोधित करते हुए अपने उद्बोधन में देश वासियों को 73 वां गणतंत्र दिवस की हार्दिक अभिनंदन करते हुए कहा कि सबसे पहले हम आजादी के पहली नायिका झांसी की रानी लक्ष्मी बाई एवं उनके क्रांतिकारी साथियों को नमन् करते हैं जिन्होंने सबसे पहले 1857 की पहली व्यापक क्रांति की शुरूवात की देश के लिए जीये और देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिये ।

आज हमें उन वीर सैनिकों को भी नमन वंदन करने की आवश्यकता है जिन्होंने देश की आन-बान-शान,मान और सम्मान के लिए दिन रात अपने देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए अपना बलिदान दे रहे है ऐसे रणबांकुरों  को छत्तीसगढ़ शहीद भगत सिंह ब्रिगेड उन्हें शत् शत् नमन है जिनकी बदौलत आजादी के बाद हम अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रहे है ऐसे वीर सैनिकों को हमारा सलाम ‌ है।

विशिष्ट अतिथि संजय गुप्ता इंटरनेशनल ग्रीन सिटी ने गणतंत्र दिवस पर कहा की झांसी की रानी लक्ष्मी बाई ने देश में आजादी की एक अलख जगाई मगर उनके ज्वाला को वीर गुंडाधुर, शहीद वीर नारायण, रानी दुर्गा बाई, छत्रपति शिवाजी,  सरदार भगतसिंह, च॔द्रसेखर आजाद,  राजगुरू, सुखदेव, सुभाषचंद्र बोस, अश्फाक उल्लाखान, उधमसिंह, लाला लाजपत राय, जैसे महान क्रांतिकारीयों ने आगे बढ़ाया जिनकी बदौलत पुरा देश राष्ट्रीय अंदोलन से जुड़ गया और 15 अगस्त 1947 को देश आजाद हो गया और आज ही के दिन 26 जनवरी 1950 को इसके संविधान को आत्मसात किया गया था जिसके तहत भारत को एक लोकतंत्रिक , संप्रभु गणतंत्र देश घोषित किया गया इसलिए हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

 विजया लक्ष्मी पांडेय शहीद भगतसिंह ब्रिगेड की प्रदेश महिला महामंत्री ने 73 वें गणतंत्र दिवस पर नगर वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस वीरों को याद करने का दिन है खरसिया नगर में रहने वाले और खरसिया नगर से बाहर रहने वाले सभी नगर वासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई यह हम सबको एक सुत्र में बांधने वाली भारतीयता के गौरव का उत्सव है।

हर साल गणतंत्र दिवस के दिन हम अपने गतिशील लोकतंत्र तथा राष्ट्रीय एकता की भावना का उत्सव मनाते है महमारी के कारण इस वर्ष के उत्सव में धूम - धाम भले ही कुछ कम हो परन्तु हमारी भावना हमेशा की तरह सशक्त ‌है।

क्रांतिकारी गुलाब राम डनसेना ने भी गणतंत्र दिवस के अवसर पर वार्ड वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस का यह दिन उन महानायकों को याद करने का अवसर भी है जिन्होंने आजादी के सपने को साकार करने के लिए अतुलनीय साहस का परिचय दिया तथा उसके लिए देशवासियों में संघर्ष करने का उत्साह जगाया।

देश को आज फिर से झाँसी की रानी लक्ष्मी बाई , गुंडाधुर, भगतसिंह, सुभाषचंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद जैसे महान राष्ट्र भक्तों की आवश्यकता है इसलिए हमारे छत्तीसगढ़ शिक्षा प्रणाली में भारत के सभी शिक्षा प्रणाली में महान क्रांतिकारीयों की  जीवनी जरूर पढ़ाये जानी चाहिए माता पिता भी अपने बच्चों को महानायकों के बारे मे जरूर बताइए ताकी भविष्य में हमारा  भारत देश को पुन:  गुलाम नहीं बनाया जा सके ।

देश के 73 वां राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस उत्सव कार्यक्रम को सफल बनाने में आंगनबाड़ी केंद्र की साहायिका राजकुमारी महंत , समाज सेविका मंजू यादव , लंकेश्वरी यादव पिंकी गबेल देशभक्त महेश्वर महंत एवं वार्ड वासियों की के साथ शहीद भगतसिंह ब्रिगेड के सदस्यों की भूमिका सहरानीय रही है।