breaking news New

एसआर हॉस्पिटल में तीन दिवसीय निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का समापन

एसआर हॉस्पिटल में तीन दिवसीय निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का समापन


भिलाई। एसआर हॉस्पिटल धमधा रोड चिखली दुर्ग में आयोजित तीन दिवसीय निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का मंगलवार को समापन हुआ। समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद विजय बघेल उपस्थित हुए। इस मौके पर पूर्व विधायक भजन सिंह निरंकारी, डॉ अशोक त्रिपाठी, नीता लोधी, अमीर चंद अरोरा, गुरमीत सिंह, डॉ राकेश गुप्ता, चेयरमेन संजय तिवारी की मां कनक तिवारी आदि उपिस्थित रहे। कार्यक्रम की शुरुआत में मितानिनों द्वारा अतिथियों का करतल ध्वनि से स्वागत किया गया वही इस दौरान 500 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं वह कोरोनावायरस सहित पत्रकारों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन सुमन कन्नौजे ने किया।

इससे पहले शिविर स्थल पहुंचे सांसद विजय बघेल ने पूरे परिसर का निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने विधिवत कोपर्डी फॉर्म भरा और और अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराया कार्यक्रम में पहुंचे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी गंभीर सिंह ठाकुर ने भी शिविर स्थल का निरीक्षण किया और इस स्वास्थ्य शिविर के लिए एसआर हॉस्पिटल के चेयरमैन संजय तिवारी का आभार व्यक्त किया। स्वागत भाषण बाल एवं शिशु रोग विभाग से डॉ एस.पी केशरवानी ने दिया इस दौरान उन्होंने सभी अतिथियों का स्वागत किया साथ ही शिविर के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारियां दी उन्होंने कहा कि शिविर में आए मरीजों में से 100 मरीजों का चयन किया है जिनके ऑपरेशन कल से क्रमानुसार किए जाएंगे।

आसपास के गांव के लिए संजीवनी के समान
कार्यक्रम के दौरान सांसद विजय बघेल ने कहा कि एसआर हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर आसपास के गांव के लिए संजीवनी के समान है। शहरी क्षेत्र में तो अस्पतालों की उपलब्धता है लेकिन जिस स्थल पर एसआर हॉस्पिटल स्थापित है वहां आसपास के सैकड़ों गांव के लोग इससे लाभान्वित हो रहे हैं। सांसद बघेल ने कहा कि स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में हर तरह के स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का निशुल्क चिकित्सा परामर्श किया गया साथ ही आवश्यकता अनुसार दवाएं भी उपलब्ध कराई गई जो सराहनीय है। सांसद बघेल ने कहा कि कोरोना महामारी जब अपने चरम पर थी तब एसआर हॉस्पिटल प्रबंधन ने मानव सेवा की मिसाल पेश की। सांसद बघेल ने कहा कि एसआर हॉस्पिटल ने पिछले 4 वर्षों में बहुत सारी उपलब्धियां हासिल की है। मानव सेवा के क्षेत्र में एसआर हॉस्पिटल ने समर्पण और सेवा भाव का परिचय दिया है उसके लिए हॉस्पिटल के चेयरमैन संजय तिवारी बधाई के पात्र हैं।

ईश्वर की इच्छा से मिला सेवा का मौका
कार्यक्रम के दौरान एसआर हॉस्पिटल के चेयरमेन संजय तिवारी ने कहा कि पहले मैंने सोचा कि यह बहुत बड़ी जिम्मेदारी वाला काम है लेकिन जब इस फील्ड में आया तो समझ में आया ईश्वर ने कुछ सोच समझकर ही यह जिम्मेदारी दी है। संजय तिवारी ने कहा कि जिले में जब डेंगू की दस्तक हुई थी तब ऐसा कोई अस्पताल नहीं मिला जहां सुरक्षित तरीके से इलाज किया जा सके। तब प्रशासन ने एसआर हॉस्पिटल की तरफ देखा और हमें सेवा का मौका मिला।  तत्कालीन कलेक्टर ने अस्पताल का निरीक्षण किया इसके बाद बैठक हो गई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि डेंगू का इलाज निशुल्क करना है हमने प्रशासन की बात मानी। हमने तय किया मानव सेवा का अवसर मिला है तो डेंगू का इलाज निशुल्क करेंगे। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी अस्पताल पहुंची हमने संयुक्त रूप से डेंगू के मरीजों का इलाज शुरू किया। उस दौरान करीब 400 मरीजों का इलाज यहां सफलतापूर्वक किया गया।  सामान्य परिस्थितियों में हम मानव सेवा करते हैं लेकिन यदि कोई प्राकृतिक आपदा आती है तो यह अस्पताल पूरी तरह तैयार हैं। बीच में मितानिन बहनों से कुछ प्रस्ताव आया तो हमने उस पर भी ध्यान दिया और उनका प्रशिक्षण कराया।

मानव सेवा ही माधव सेवा के भाव को किया चरीतार्थ
कार्यक्रम के दौरान  छत्तीसगढ़ अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम की नीता लोधी ने कहा कि मानव सेवा ही माधव सेवा है इस कथन को एसआर हॉस्पिटल ने पूरा किया है। मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि आपको इतना सामर्थ्यवान बनाए कि इसी तरह मानव सेवा कर सकें। नीता लोधी ने एक वाक्या बताते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान एक बार एक पेशेंट को शिफ्ट करने की बात आई तो मैंने डॉ आशीष अग्रवाल से बात की तो उन्होंने कहा संजय तिवारी जी से संपर्क करिए है आधी रात को भी कॉल अटेंड करेंगे और पेशेंट को भी अटेंड करेंगे। कार्यक्रम के दौरान पूर्व विधायक भजन सिंह निरंकारी ने भी अस्पताल के मानवीय गुणों की सराहना की। कार्यक्रम के अंत में राष्ट्र गान का गायन किया गया। चिकित्सा प्रकोष्ठ का अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

तीसरे दिन भी बड़ी  संख्या में पहुंचे मरीज
स्वास्थ्य परीक्षण शिविर के दौरान तीसरे दिन भी अस्पताल में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से 150 से अधिक लोग विभिन्न समस्याओं का समाधान लेने पहुंचे। स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में कार्डियोलॉजी विभाग(हृदय रोग) से डॉ रंजन सेन गुप्ता, प्लास्टिक सर्जरी विभाग से डॉ यतिन्द्र कुमार देवांगन, डॉक्टर विश्वमित्र दयाल, जनरल सर्जरी विभाग से डॉ मनीष , जनरल मेडिसिन विभाग से डॉ सुशांत कानडे बाल एवं शिशु रोग विभाग से डॉ एस.पी .केशरवानी , वात व हड्डी रोग विभाग से डॉ अनुपम लाल, नाक कान गला रोग विभाग से  डॉ अंकिता जोशी, स्त्री रोग विभाग से डॉ साहू, डॉ अभिलाषा मिश्रा, नेत्र रोग विभाग से डॉक्टर केके मिश्रा, डॉक्टर छाया भारती, डॉक्टर जेएस भाटिया, डॉ वनश्री सिन्हा, मनोरोग व नशा मुक्ति विभाग से डॉ देवेंद्र रत्नानी कार्यक्रम में डॉक्टर पवन देशमुख विजय गवानडे, डॉक्टर जे.एन पांडे ,जगजीत पांडे अजय तिवारी, मोहम्मद जाकिर प्रियेश मिश्रा, हरि साहू ,आभा खूंटे ,डाँ अश्वनी शुक्ला, डॉक्टर संतोष पंडा ,डॉ रजत डेहरिया, डॉक्टर नीलम चंद्राकर ,डॉ हिमांशु चंद्राकर चन्द्र सेन राढौर , प्रिती मिश्रा, तारा पटेल, सरिता कवाडकर , अफसार निशा, प्रेमलाल चंद्राकर,स्वाति पारकर, डॉ मनीषा पंडित ,पदुम महाराणा, राजेश त्रिपाठी, कपिल उत्पल, शिवकुमार ,सीमा बरहरे ,अजय अग्रवाल, लक्ष्मी नारायण ,वेदांग तिवारी, श्रेया तिवारी आदि ने अपनी सेवाएं प्रदान की।