breaking news New

'समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़' की प्रथम प्रदेश स्तरीय बैठक 27 दिसंबर को बिलासपुर में

'समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़' की प्रथम प्रदेश स्तरीय बैठक 27 दिसंबर को बिलासपुर में

बिलासपुर।   पचास संस्थापक सदस्यों के सामूहिक निर्णय पर आधारित भारतवर्ष के प्रथम ब्राह्मण सामाजिक संगठन समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़ की प्रदेश स्तरीय बैठक का आयोजन 27 दिसंबर 2020, रविवार को बिलासपुर के सरकंडा स्थित मुस्कान भवन में किया जा रहा है.

समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़ के प्रदेश सचिव पं.रोशन शर्मा एवं संयुक्त सचिव पं.सजल तिवारी,  निलिमा शर्मा ने जानकारी दी है कि संगठन की स्थापना एवं शासन से पंजीकृत होने के बाद प्रदेश स्तर पर पहली बार प्रदेश कार्यकारिणी सहित संगठन सहयोगियों की परिचय बैठक का आयोजन किया जा रहा है. संगठन की बिलासपुर जिला मातृशक्ति परिषद् एवं युवा परिषद् ईकाई के मुख्य सहयोग एवं मार्गदर्शन में इस कार्यक्रम को संचालित किया जायेगा. 

संगठन के प्रदेश संयोजक पं.रामानुज तिवारी एवं प्रदेश समन्वयक पं.प्रेम शुक्ला द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य में संगठन के प्रदेश प्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों से व्यक्तिगत संपर्क कर उन्हें इस बैठक में आमंत्रित किया जा रहा है. 

विदित हो कि स्थापना के अल्प समय में ही समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़ का विस्तार छत्तीसगढ़ प्रदेश के अनेक जिलों में हो चुका है जहाँ पर संगठन द्वारा लगातार समाजोपयोगी एवं मानव कल्याण के संगठनात्मक उद्देश्यों का संचालन किया जा रहा है.

सामूहिक सहभागिता के नेतृत्व सिद्धांत पर आधारित समग्र ब्राह्मण परिषद् छत्तीसगढ़ की इस महत्वपूर्ण बैठक में संगठन द्वारा अभी तक किये गये कार्यों की समीक्षा सहित वर्ष 2021 में प्रस्तावित कार्ययोजना पर विचार किया जायेगा.

समग्र ब्राह्मण मातृशक्ति परिषद् की प्रदेश प्रमुख  विजयलक्ष्मी तिवारी ने जानकारी दी है कि इस बैठक में छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों एवं विकासखंडों से अधिकाधिक संख्या में संगठन प्रतिनिधियों की उपस्थित होने की संभावना है.

संगठन की प्रथम प्रदेश स्तरीय बैठक के लिये समग्र ब्राह्मण परिषद् बिलासपुर से विभा पांडेय,  अल्का पांडेय,भगवती दुबे,  श्वेता शर्मा, राही दुबे, रेखा पांडेय,  पुष्पा दुबे,  नम्रता शर्मा,  वंदना शर्मा, सरिता तिवारी,  सविता पांडेय,  पूर्णिमा तिवारी, मदालसा तिवारी,  सरिता त्रिपाठी,  पुष्पा तिवारी, चंद्रकांता गौराहा,  विमलेश शुक्ला,  माया दुबे, पं.रुपेश शुक्ला, पं.कृष्ण कुमार पांडेय, पं.महेन्द्र तिवारी आदि सहयोगियों द्वारा तैयारियों में सहयोग किया जा रहा है.