breaking news New

विधानसभा ब्रेकिंग : अवैध शिकार पर घिरे वन मंत्री अकबर, दोषी अधिकारियों को बचाने का आरोप, मंत्री का इनकार, कहा-कोई अंतर राज्यीय गिरोह सक्रिय नही है

विधानसभा ब्रेकिंग : अवैध शिकार पर घिरे वन मंत्री अकबर, दोषी अधिकारियों को बचाने का आरोप, मंत्री का इनकार, कहा-कोई अंतर राज्यीय गिरोह सक्रिय नही है


अनिल द्विवेदी

रायपुरः नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने आज सदन में ध्यानाकर्षण के तहत राज्य में जानवरों के अवैध शिकार का मुद्दा उठाया जिसके बाद विपक्षी विधायकों ने उनका साथ दिया और अवैध शिकार के कई मामले उठाये गए। 

श्री कौशिक ने कई जिलों में हाथियों का आतंक और उससे हुई मौत के लिए क्षतिपूर्ति राशि देने की मांग की। उन्होंने बताया कि ग्रमीण इसके लिए धरने पर बैठे हैं। 

विधायक डॉ रमन सिंह ने भी तेंदुआ  के अवैध शिकार का मामला उठाया। इस पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने दोनो के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इसकी जांच कराएंगे। उन्होंने इससे इनकार कहा कि  तेंदुआ क्षत विक्षत अवस्था में मिला है पर वह मृत पाया गया और इसके अपराध के लिए शिकार करने वाले 05 आरोपियों को वन प्राणी अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। उनसे हथियार भी बरामद हुए है। इससे साबित होता है कि विभाग लापरवाह नही है। 

रमन सिंह ने प्रति प्रश्न करते हुए कहा कि कई अवैध शिकार के मामले अभी तक अनसुलझे हैं। दोषी अधिकारियों पर कठोर कार्यवाई नही हो रही है जबकि उनके क्षेत्र में ऐसी घटनाएं हो रही है। टाइगर रिजर्व भी सुरक्षित नही रहे। सिंह ने पूछा कि कितने अधिकारियों पर कार्यवाई होने जा रही है?

इस पर मंत्री अकबर ने कहा कि कोई अंतरराज्यीय गिरोह सकिय नही है। आरोपी पकड़े जा रहे हैं। कोई संरक्षण नही है अधिकारियों को। दोषियों पर कार्यवाई हुई है। रमन सिंह ने रिपोर्ट बताने के लिए कहा तो अकबर ने अंग्रेजी में रिपोर्ट सुना दी। इसके बाद रमन सिंह ने कहा कि रिपोर्ट ही पर्याप्त है दोषियों पर कार्यवाई के लिए।

नेता प्रतिपक्ष धर्म लाल कौशिक ने कहा कि अवैध शिकार के मामले में अन्तर्राजयीय षड्यंत्र पर आप क्या कर रहे हैं। विधायक सौरभ सिंह ने भी कहा कि अन्तर्राजयीय मामलों पर विभाग क्या कर रहा है, इस पर अकबर ने कहा कि सारे मामले पर तेजी से कार्यवाई हो रही है।

विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी सभा का संचालन कर रहे हैं।