अगर बाबरी का विध्वंस नहीं होता तो आज जो राम मंदिर का भूमिपूजन देखने को नहीं मिलताः संजय राऊत

अगर बाबरी का विध्वंस नहीं होता तो आज जो राम मंदिर का भूमिपूजन देखने को नहीं मिलताः संजय राऊत

नई दिल्ली। बाबरी मस्जिद विध्वंस का फैसला लंबे आरसे के बाद आज सुनवाई हुई है। कोर्ट के फैसले को सभी ससम्मान से स्वीकार कर रहे हैं। इसी कड़ी में शिव सेना के सासंद संजय राऊत ने सभी लोगों को बधाई दी है।  हमें उस एपिसोड को भूल जाना चाहिए क्यों अब राम मंदिर बनने जा रहे है. शिवसेना के सांसद संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं और मेरी पार्टी शिवसेना, कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं और आडवाणी जी, मुरली मनोहर जोशी जी और उमा भारती जी समेत उन लोगों लोगों को बधाई देते हैं जो बरी हुए हैं।

उन्होंने कहा कि कोर्ट ने जो कहा है कि ये कोई साजिश नहीं थी, ये ही निर्णय अपेक्षित था. हमें उस एपिसोड को भूल जाना चाहिए,अब अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा है. अगर बाबरी का विध्वंस नहीं होता तो आज जो राम मंदिर का भूमिपूजन हुआ है वो दिन हमें देखने को नहीं मिलता।

विदित हो कि सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश एस.के. यादव ने फैसला सुनाते हुए कहा कि बाबरी मस्जिद विध्वंस की घटना पूर्व नियोजित नहीं थी। यह एक आकस्मिक घटना थी. उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोई पुख्ता सुबूत नहीं मिले, बल्कि आरोपियों ने उन्मादी भीड़ को रोकने की कोशिश की थी।