breaking news New

27 जून से 24 जुलाई तक मनाया जायेगा जनसँख्या नियंत्रण पखवाड़ा, विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों पर होगी नसबंदी की सुविधा

27 जून से 24 जुलाई तक मनाया जायेगा जनसँख्या नियंत्रण पखवाड़ा, विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों पर होगी नसबंदी की सुविधा

बलौदाबाजार,26 जून । स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूरे राज्य सहित  जिलों में 27 जून से 24 जुलाई तक जनसँख्या नियंत्रण पखवाडा मनाया जायेगा। जिसके अंतर्गत विविध प्रकार की गतिविधियाँ जिले में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की जायेंगी। इसके तहत स्थायी गर्भ निरोध कार्यक्रम के अंतर्गत पुरुष एवं महिला नसबंदी का आयोजन 11,16,18, 23 एवं 25 जुलाई को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लवन,कसडोल में 14,15 ,22 एवं 23 जुलाई को सिमगा में एवं 14,17, 21, 24 जुलाई को पलारी में और 11 से लेकर 24 जुलाई को सिविल अस्पताल भाटापारा शहर में किया जायेगा। इस संबध में अधिक जानकारी हेतु हितग्राही अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों पर संपर्क कर सकतें है। 

इसी तरह जिला अस्पताल में प्रतिदिन 5 हितग्राहियों को यह सेवा पखवाड़े के तहत दी जाएगी जिसका पूर्व से पंजीयन कराना अनिवार्य होगा।पखवाड़े के संबंध में जिला मुख्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने बताया कि 11 वर्षो से भारत सरकार द्वारा विश्व जनसँख्या दिवस का आयोजन किया जाता रहा है। वर्तमान समय में कोविड महामारी का प्रभाव है। जिसको ध्यान में रखते हुए माता एवं शिशु स्वास्थ्य के लिए इस वर्ष गतिविधियां की जा रही है। इसके तहत यह आयोजन दो चरणों में होगा। पहला चरण 27 जून से 10 जुलाई तक जनसँख्या दंपत्ति सम्पर्क पखवाड़ा मनाया जायेगा जिसके तहत परिवार नियोजन के महत्त्व के बारे में कई जागरूकता कार्यक्रम जैसे मोबाइल मीडिया,वैन, के साथ-साथ स्वास्थ्य कार्यकर्ता गांवों में प्रचार- प्रसार करेंगे। इसी तरह दूसरा चरण 11 से 24 जुलाई तक जनसँख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा के रूप में मनाया जाएगा। इसके तहत पूरे पखवाड़े में परिवार नियोजन सेवा प्रदान करने पर केन्द्रित रहेगा।

 परिवार नियोजन सेवा अंतर्गत गर्भ निरोधकों के अस्थायीऔर स्थायी दोनों ही साधनों की उपलब्धता हितग्राहियों को प्रदान की जाएगी I अस्थायी सुविधा हेतु सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में कंडोम बॉक्स की रिफिलिंग, ओसीपी के अतिरिक्त पैकेट हितग्राही वितरण शामिल है।इसके  साथ ही आईयूसीडी की व्यवस्था शामिल है।जनसँख्या नियंत्रण पखवाड़ा में ब्लॉक स्तर पर श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले पुरुष एवं महिला स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता को अलग- अलग प्रथम एवं द्वितीय स्थान के आधार पर क्रमशः दो एवं एक हज़ार की राशि प्रोत्साहन सस्वरूप प्रदान की जाएगी। इस पूरे कार्यक्रम में कोविड के प्रोटोकोल का ध्यान रखा जायेगा साथ ही ग्राम एवं शहरों में प्रचार–प्रसार के माध्यम से लोगों को सुविधा का लाभ लेने हेतु प्रेरित किया जायेगा।