breaking news New

एसडीएम ने न्यायालय परिसर में वाहनों के आने पर लगाया प्रतिबंध

 एसडीएम ने न्यायालय परिसर में वाहनों के आने पर लगाया प्रतिबंध


 बाहरी व्यक्तियों के वाहनों के लिए की गई पार्किंग व्यवस्था 

सक्ती।  एसडीएम रेना जमील (आईएएस ) द्वारा राजस्व न्यायालय परिसर में बाहर से आने जाने वाले व्यक्तियों द्वारा बेतरतीब वाहनों को कहीं भी खड़ा कर दिया जाता था जिससे आए दिन न्यायधीश राजस्व अधिकारी जनपद पंचायत के कर्मचारी एवं अधिकारियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था।  क्योंकि 11:00 बजे से ही परिसर में आने वाले व्यक्तियों द्वारा अपने वाहनों को कहीं पर खड़ा कर दिया जाता था जिससे न्यायाधीश राजस्व अधिकारियों के वाहन कार्यालय तक जाने में दुर्घटना की संभावना बनी रहती थी दोपहर लंच में जाते समय न्यायाधीश एवं अधिकारियों के वाहनों को निकालने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था इन सब परेशानियों को देखते हुए एसडीएम रैना जमील के द्वारा तहसीलदार एस के डनसेना , नायब तहसीलदार आशीष पटेल  के साथ न्यायालय परिसर में वाहनों के आने पर प्रतिबंध लगाया गया और बाहर से आने वाले सभी व्यक्तियों के  खड़े वाहनों को हटवाकर  थाना के सामने और न्यायालय परिसर के बगल में उचित पार्किंग व्यवस्था  किया गया।  आज  बाहर से आने वाले वाहनों की परिसर में नहीं आने से सभी अधिकारियों एवं पक्ष एवं पछकार व्यक्तियों को आने जाने में किसी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ा तथा  परिसर में बेतरतीब वाहन नहीं रहने के कारण न्यायाधीश राजस्व अधिकारियों को आने जाने में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ा ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी एसडीएम अधिकारी के द्वारा इतना अच्छा व्यवस्था कर लोगों को सुविधा दिलाई गई है इस व्यवस्था को देखकर नगरवासी एवं ग्रामीण क्षेत्र से आए हुए सभी व्यक्तियों के द्वारा अधिकारी की प्रशंसा की जा रही है !


 इस संबंध में एसडीएम रैना जमील ने बताया कि न्यायालय एवं राजस्व परिसर में कोई भी व्यक्ति अपने वाहन को बेतरतीब तरीके से खड़े कर चले जाते थे जिससे न्यायालय परिसर न्यायाधीश एवं राजस्व अधिकारियों सहित अन्य विभाग के अधिकारी कर्मचारियों को आने जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था इस सब को देखते हुए बाहर से आने वाले व्यक्तियों के वाहनों  के लिए पार्किंग व्यवस्था की गई है ताकि शासकीय कार्य से आने वाले हर व्यक्ति को आने जाने में सुविधा मिल सके और किसी भी प्रकार की वाहनों से परिसर में दुर्घटना ना हो