breaking news New

ड्रग पैडलर्स : आरोपी संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा कई हुक्का बार के संचालक हैं दोनों, हुक्का बार में जुटाते थे युवाओं की भीड़

ड्रग पैडलर्स : आरोपी संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा कई हुक्का बार के संचालक हैं दोनों, हुक्का बार में जुटाते थे युवाओं की भीड़

रायपुर. क्विंस क्लब गोलीकाण्ड की जांच और तेज करते हुए पुलिस ने जहां ड्रग पैडलर्स के रैकेट का खुलासा किया है, वहीं फिलहाल रायपुर के रसूखदार संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा की गिरफतारी तथा बिलासपुर से गिरफतार अभिषेक शुक्ला, भिलाई से गिरफ्तार आरोपी आशीष जोशी, निकिता पांचाल सहित दो अन्य युवाओं को गिरफतार किया है. पुलिस ने इनके कनेक्शन यदि सही ढंग से तलाशे और कार्यवाही की तो कुछ और युवाओं के सपड़ में आने की संभावना है. संभव पारख कई हुक्काबारों का संचालक है और उसके साथ गिरफ्तार हुक्का बार संचालक हर्षदीप जुनेजा भी ड्रग लेने का आरोपी है.

पुलिस बताती है कि ये सभी लोग सालों से ड्रग का धंधा चला रहे थे और हजारों युवाओं को इसका आदी भी बनाया. इसके लिए इन्होंने हुक्का बार चलाया और पंचतारा होटलों की पार्टियों में ड्रग्स सप्लाय किए. ड्रग्स की एक पुड़िया 500 की और अधिकतम 3000 रूपये तक होती है. दूसरी ओर पुलिस ने हालांकि हुक्का बार में छापामारी करके कई बार कार्रवाई की परंतु कड़ी कार्यवाही के अभाव में आरोपियों के हौसले बुलंद होते रहे. आरोपी संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा हैं. दोनों एयरपोर्ट रोड पर रेस्त्रां और हुक्का पार्लर चलाने वाले बताए गए हैं. फिलहाल इनकी जमानत रदद कर दी गई है.

पीड़ितों के मुताबिक ड्रग पैडलर हर उस मुमकिन जगह पर पहुंच बना चुके हैं, जहां आपके-हमारे घरों के किशोर-युवक-युवतियां अक्सर पार्टीज के लिए जाया करते हैं। राजधानी के कई क्लब्स या तो धड़ल्ले से नशा परोसते हैं या फिर वहां ड्रग पैडलर्स की बेधड़क एंट्री है। ये पैडलर्स कूल डूड या ग्लैम डॉल बनकर यूथ आकर्षित कर उन्हें नशे का आदी बनाते हैं।  ड्रग गैंग से जुड़ी अब तक 14 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं जिसमें एक महिला ड्रग पैडलर भी है. रायपुर और बिलासपुर से गिरफ्तार किए गए ड्रग पैडलर और ड्रगिस्ट किसी न किसी होटल, हुक्का बार,इवेंट कंपनी या नाइट क्लब से जुड़ें हुए है जो अक्सर क्लोज सर्किट पार्टी कर नशा किया और परोसा करते थे.

बीते दिनों गिरफ्तार मुख्य ड्रग पैडलर अभिषेक शुक्ला ये कबूल कर चुका है कि वो विधानसभा रोड में स्थित एक होटल में कमरे लेकर 5-6 लोगों की क्लोज़ सर्कल पार्टी आयोजित करता था ताकि वहां पहुंचने वाले लड़के-लड़कियों को ड्रग का चस्का लग जाए. भिलाई से गिरफ्तार आरोपी आशीष जोशी और उसकी महिला मित्र जो डीजे टॉक्सिक के नाम से जानी जाती वो भी प्राइवेट पार्टियां कर यूथ को नशा कारोबार के मकड़जाल में उलझाती थी.