breaking news New

किसानों को संबोधित करते हुए CM ने कहा - हमारी परंपरा को हमने अर्थ से जोड़ा है

 किसानों को संबोधित करते हुए CM ने कहा - हमारी परंपरा को हमने अर्थ से जोड़ा है

रायपुर।   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसान सम्मलेन में प्रदेश भर से आये किसानों को संबोधित किया , और उन्होंने कहा -हमारी परंपरा को हमने अर्थ से जोड़ा है।  आज छत्तीसगढ़ में चरवाहा की आय किसी नौकरी पेशा से अधिक हो गई है। यह इसलिए हो पाया क्योंकि अब किसानों को विश्वास हो गया कि किसानी भी लाभदायक है। हमने कचरा  इकठ्ठा करने को भी अर्थ से जोड़ा.

अब यहाँ कचरा इकठ्ठा  करने वालों को रोजग़ार मिला है तो साथ ही कचरा प्रबंधन में मदद मिल रही है. इसीलिए छत्तीसगढ़ ने लगातार तीसरी बार स्वच्छतम प्रदेश का अवार्ड लिया। हमारी प्राचीन परम्परा को लेकर हम संकोच न करें उन्हें हम आगे बढ़ाए. हमने छत्तीसगढ़ में लोगों को अपनी परम्परा और संस्कृति से फिर से जुडऩे के लिए प्रेरित किया. अब लोग यहाँ गौरवान्वित महसूस करते हैं। 

राम से हमारा रिश्ता मामा-भाँजा का

हमारे यहाँ धान की नपाई के दौरान काठा में गिनती की शुरुआत राम से होती है।  हमारी दिनचर्या के हिस्से में भी राम बसे हैं। संस्कृति से जोड़कर किए जा रहे काम से क्या आप अपना एक अलग व्यक्तित्व बनना चाहते हैं? 

जवाब - हम सिफऱ् अपनी परम्परा से जुड़े रहने का प्रयास कर रहे हैं. इसमें अलग से कुछ करने जैसा कुछ नहीं है। चाहे वो छेरछेरा हो, पुन्नी हो या तीजा-पोरा, इन सभी त्योहारों से भावना जुड़ी है और यहाँ इन त्योहारों में गौरव का भाव है। कोरोना काल में भी उद्योग चलते रहें यह प्रयास हमने किया। उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए इस सरकार ने हमने जितना काम किया किसी और सरकार ने नहीं किया।