breaking news New

फर्जीवाड़ा : जिला शिक्षा अधिकारी के खिलाफ हड़कंप, अपात्र को पात्र बताकर दे दिया अनुकंपा नियुक्ति

फर्जीवाड़ा : जिला शिक्षा अधिकारी के खिलाफ हड़कंप, अपात्र को पात्र बताकर दे दिया अनुकंपा नियुक्ति

राजनांदगांव। शिक्षा विभाग में अनुकंपा नियुक्ति में की गई गड़बड़ी की एक बार फिर शिकायत पर विभाग में हड़कंप मच गया है, क्योंकि विगत कुछ महीनों में कई डिलिंग क्लर्क पर गाज गिरने से विभाग के डिलिंग क्लर्क सदमें में है, तो वहीं जिला शिक्षा अधिकारी अभी भी अपने आप को पाक साफ बता रहे है।

माता सरकारी नौकरी में फिर भी जिला शिक्षा अधिकारी राजनांदगांव हेतराम सोम ने कु. घनिष्ठा साहू को अनुकंपा नियुक्ति दे दिया, जबकि इसी प्रकरण में तत्कालिक जिला शिक्षा अधिकारी एसके भारद्वाज ने कु. घनिष्ठा साहू को यह कहते हुए वर्ष 2018 में उनके प्रकरण को निरस्त कर दिया था !

आपकी माता सरकारी नौकरी में है, इसलिए आप अनुकंपा नियुक्ति के लिए पात्रता नहीं रखती है, लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी हेतराम सोम ने वर्ष 2021 में उसी प्रकरण में कु. घनिष्ठा साहू को अनुकंपा नियुक्ति दे दिया और हेतराम सोम ने नोट सीट में कहीं भी यह उल्लेख नहीं किया है कि यह प्रकरण पूर्व के जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा वर्ष 2018 में निरस्त कर दिया गया था और अनुकंपा नियुक्ति आदेश में भी इसका उल्लेख नहीं है कि संबंधित की माता सरकारी नौकरी में है अथवा नहीं।

  छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन ने इस मामले की दस्तावेजी साक्ष्य के साथ प्रमुख सचिव और सचिव को लिखित शिकायत कर हेतराम सोम डीईओ राजनांदगांव को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की मांग किया गया है।

जानकार बता रहे है मामला बेहद गंभीर है और उच्च अधिकारी इस मामले में बड़ी कार्यवाही कर सकते है, क्योंकि जब तत्कालिक जिला शिक्षा अधिकारी ने जिसे अपात्र माना था तो उसे तीन वर्ष पश्चात् कैसे दूसरे जिला शिक्षा अधिकारी ने पात्र बताकर नियुक्ति आदेश जारी कर दिया और नोट सीट में पूर्व में की गई कार्यवाही का उल्लेख भी नहीं किया गया, जबकि नोट सीट में इसका उल्लेख होना अनिवार्य है, यानि प्रकरण में तथ्यों को छिपाने का प्रयास किया गया है।