breaking news New

कमलूर-भांसी स्टेशन के बीच मालगाड़ी के 18 डिब्बे पटरी से उतरे

 कमलूर-भांसी स्टेशन के बीच मालगाड़ी के 18 डिब्बे पटरी से उतरे

दंतेवाड़ा। जिला मुख्यालय से 24 किलोमीटर दूर कमलूर-भांसी स्टेशन के बीच आज सुबह चार बजे लौह अयस्क भरकर विशाखापटनम जा रही मालगाड़ी के 18 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। मालगाड़ी के डिरेल होने से कुछ डिब्बे आपस में टकराकर पटरी पर पलट गए और बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इस दुर्घटना में किरंदुल-विशाखापट्नम रेलवे मार्ग बाधित हो गया है। मौके पर रेलवे की टीम पहुंचकर पटरी की मरम्मत का काम किया जा रहा है। मालगाड़ी के 18 डिब्बे पटलने से रेलवे को करोड़ो का नुकसान का अनुमान है।

उल्लेखनिय है कि नक्सलियों के भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने बीते दिनों 27 नवंबर को भांसी-कमालूर के पास नक्सलियों ने पटरी उखाड़कर रेल को बेपटरी कर दिया था, साथ ही रेलगाड़ी के इंजन पर बैनर लगाकर भारत बंद का ऐलान किया था। रेल की गति कम होने से किसी तरह के जानमाल का ज्यादा नुकसान नहीं हुआ था। इतनी कम अवधि में पुन: उसी इलाके में मालगाड़ी के डिरेल होने से नक्सली साजिश की आशंका से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। लेकिन पुलिस ने प्रथम दृष्टया इसमें नक्सलियों का हाथ होने से इंकार कर रही है। जांच के बाद ही दुर्घटना की असली वजह का पता चल पायेगा।   

दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने इस दुर्घटना में प्रथम दृष्टया नक्सलियों का हाथ होने से इंकार किया है, मौके पर कोई नक्सली पर्चे भी नहीं मिले हैं। उन्होने बताया कि मौके पर एसटीएफ और डीआरजी की टीम तैनात कर दी गई है। रेलवे की टीम पहुंचकर पटरी की मरम्मत में लग गई है। रेल लाइन से मालगाड़ी के डिब्बे उतरने की जांच की जा रही है।