breaking news New

हवाई सफर 300 रूपये प्रति टिकट तक महंगा करने की तैयारी, कड़ी प्रतिस्पर्धा, तेल की कीमतों में वृद्धि और बढ़ते अन्य खर्चे प्रमुख कारण

हवाई सफर  300 रूपये प्रति टिकट तक महंगा करने की तैयारी, कड़ी प्रतिस्पर्धा, तेल की कीमतों में वृद्धि और बढ़ते अन्य खर्चे प्रमुख कारण

सभी एयरलाइन अक्टूबर से हवाई किराये में बढ़ोत्तरी कर सकती हैं। जिससे हवाई सफर करना महंगा हो सकता है। अगर आप आने वाले फेस्टिव सीजन (त्योहारों का सीजन) या नवंबर में हवाई सफर करने की सोच रहे हैं तो यह जानकारी जरूर पढ़ लें। सरकार द्वारा विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) पर कस्टम ड्यूटी लगाने के बाद इस बढ़ोत्तरी की संभावना जताई जा रही है। हवाई सफर  300 रूपये प्रति टिकट तक महंगा करने की तैयारी. यह बढ़ोत्तरी अगले महीने के फेस्टिव सीजन तक की जा सकती है। आपको बता दें कि आने वाले महीनों में दशहरा, दिवाली, नवरात्रि, भाई दूज जैसे बढ़े त्योहार आने वाले हैं।

भाषा के अनुसार विशेषज्ञों ने बताया कि कड़ी प्रतिस्पर्धा, तेल की कीमतों में वृद्धि और बढ़ते अन्य खर्चे विमानन कंपनियों पर नकारात्मक प्रभाव डाल रहे हैं। हाल ही में एटीएफ पर लगाई गई 5 प्रतिशत की कस्टम ड्यूटी भी इस प्रभाव को और नकारात्मक बना रहे हैं। जिसके बाद पिछले कुछ हफ्तों से एयरलाइन इंडस्ट्री अक्टूबर में हवाई किराये में बढ़ोतरी के संकेत दे ही है। अक्टूबर में फेस्टिव सीजन है, जिसमें हवाई सफर करने वालों की संख्या में निश्चित रूप से वृद्धि होती है और विशेषज्ञों के अनुसार, इन बढ़ी कीमतों के द्वारा होने वाले मुनाफा विमानन कंपनियों पर पड़ रहे नकारात्मक प्रभाव को कम कर सकता है।

ट्रेवल पोर्टल यात्रा डॉट कॉम के सीओओ शरत ढाल के अनुसार एटीएफ पर 5 प्रतिशत सीमा शुल्क बढ़ने से विमानन कंपनियों पर नेगेटिव असर पड़ेगा। लेकिन हमारे लिए अच्छी बात ये है कि अक्टूबर में फेस्टिव सीजन है, जिसमें किराया बढ़ाकर इस नेगेटिव असर को कम किया जा सकता है। 10 सितंबर को स्पाइसजेट के चीफ अजय सिंह ने भी संकेत दिया था कि आने वाले कुछ महीनों में किराया बढ़ाया जा सकता है।