breaking news New

महिला बाल विकास विभाग खडगवा के बाद खडगवा परियोजना कार्यालय चर्चा में

महिला बाल विकास विभाग खडगवा के बाद  खडगवा परियोजना कार्यालय चर्चा में

कोरिया, 5 दिसम्बर। खडगवा परियोजना में पदस्थ  एक कंप्यूटर आपरेटर जो खडगवा परियोजना में पिछले छ: से आठ सालों से कार्यालय में दैनिक वेतन भोगी के पद पर पदस्थ है और कार्यालय की सारी गतिविधियों मे संलिप्त रहता है चाहे कार्यालय में  आगनबाड़ी कार्य कर्ता सहायिका की नियुक्ति हो या कार्य कर्ता का मानदेय यात्रा भत्ता रेडी टू ईट फूड का बिल आगनबाड़ी केंद्रों की  समाग्री का वितरण एवं आगनबाडियों केंद्रों का निरीक्षण समूहों का निरीक्षण आदि सभी का कार्य करता है।  कार्यालय कि सारी गतिविधियों में शामिल रहकर  अपने कमीशन का जुगाड़ करता हैं । 

इस कार्यालय में पदस्थ रहते हुए बिना टेंडर के  परियोजना कार्यालय में अपनी चार चके की वाहन का संचालन कर हजारों रूपये के बिल लगाकर  राशि का आहरण भी किया गया है जो जांच किये जाने योग है।

 परियोजना में एक सेक्टर सुपरवाइजर देवाडाड की पिछले कुछ सालों तक परियोजना के प्रशासनिक प्रभार में थी तब से इस खडगवा परियोजना में पदस्थ कंप्यूटर आपरेटर की कार्यालय में काफी चांदी थी प्रशासनिक प्रभारी परियोजना अधिकारी को  क्षेत्र के भ्रमण कराने के लिए अपनी चार चके की वाहन से स्वयं लेकर जाता था एवं स्वयं प्रशासनिक अधिकारी के साथ निरीक्षण आगनबाड़ी और समूहों का निरीक्षण करता था।

आगनबाडी केंद्रों से आई कार्यकर्ता एवं समूहों से कार्यालय में धड़ल्ले से कमीशन की वसूली करता है। विभागीय कार्य कार्यालय का कंप्यूटर आपरेटर ही  संचालित कर रहा है और अपनी राजनीतिक पहुंच का  रसूख दिखाकर कार्यालय की सारी गोपनीय गतिविधियों में शामिल रहता है। कंप्यूटर आपरेटर ही कार्यालय का संचालन कर रहा है, जिससे कार्यालय कि गोपनीयता भंग नहीं हो रही है और एक दैनिक वेतन भोगी से कार्यालय के गोपनीय कार्यों को कराया जाना कया उचित है ऐसे कई तरह के कार्य खडगवा के महिला बाल विकास विभाग में हो रहे हैं जो परियोजना अधिकारी की जानकारी में नहीं है। अगर समय रहते इस पर रोक नहीं लगी तो कार्यालय कि गोपनीयता भंग होने का खतरा बना रहेगा, और इस तरह के कार्यालय में पदस्थ दैनिक वेतन भोगी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं समूहों का शोषण करते रहेंगे।