कोरोना वायरस के चपेट में पूरी दुनिया , ऐसे में बिलासपुर हाई कोर्ट के जज ने कोरोना पर सुनाई दिल को छू लेने वाली कविता

कोरोना वायरस के चपेट में पूरी दुनिया , ऐसे में बिलासपुर हाई कोर्ट के जज ने कोरोना  पर सुनाई दिल को छू लेने वाली कविता


बिलासपुर। महामारी कोरोना वायरस के चपेट में पूरी दुनिया एक जंग लड़ रही है।  संकट की ये घड़ी कोई युद्ध से कम नहीं है।  भारत में   संक्रमण से निपटने के लिए केंद्र और राज्यों की  सरकारों ने कमर कस लिए है। सरकारों के द्वारा  ऐहतियातन कई कदम उठाए जा रहे है।  पूरी दुनिया कोरोना ने जिस तरह से घातक रूप ले लिया  उससे कवियों के ह्रदय भी अछूते नहीं रहे। 


अपराधियों को कठोर सजा देने के नाम से  भी इनको जानते है।  छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल जस्टिस नीलम चंद सांखला कोमल ह्रदय कवि भी हैं।  सांखला कई जिलों में न्यायाधीश रह चुके हैं, कई अपराधियों को कठोर से कठोर दंड भी दे चुके हैं लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे की वे एक कोमल ह्रदय कवि भी हैं।  कोरोना वायरस के कहर ने उनके मन को भी छुआ और उन्होंने उस पर कविता भी लिखी।   इस अवसर पर उन्होंने 35 साल पहले 1986 में लिखी अपनी एक कविता “इंसान और यमराज” को अपनी ही आवाज में गाकर सुनाया।  

chandra shekhar