breaking news New

राजस्व अधिकारी खनिजों के अवैध भण्डार और परिवहन रोकने मुस्तैद

राजस्व अधिकारी खनिजों के अवैध भण्डार और परिवहन रोकने मुस्तैद

रायपुर, 5 फरवरी। प्रदेश में खनिजों के अवैध भण्डारण एवं परिवहन पर प्रभावी नियंत्रण के लिए राजस्व एवं खनिज विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही की जा रही है। इसी कड़ी में धमतरी जिले में अवैध रेत भंडारण की शिकायतों की जांच के लिए कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के निर्देशानुसार टीम गठित कर अलग अलग स्थलों पर दबिश देकर विभिन्न स्थलों की सतत् जांच की जा रही है।

अवैध रेत के भंडारण के संबंधित मिली शिकायतों के सत्यापन के लिए राजस्व विभाग के अधिकारियों की तीन टीम गठित की गई है। टीम के द्वारा आज पांच जगहों पर दबिश दी गई। इस दौरान सिहावा रोड स्थित महावीर राइस मिल में मौके की जांच की गई, जहां रेत का अवैध भंडारण होना नहीं पाया गया। इसी तरह ग्राम मुजगहन स्थित राज राजेश्वर राइस मिल में दबिश के दौरान टीम को रेत भंडारण नहीं मिला, अलबत्ता थोड़ी मात्रा में रेत पाए गए, जिससे यह प्रतीत हो रहा था कि संभवतः पूर्व में रेत भंडारण किया गया था। इसी तरह ग्राम सोरम स्थित मगेंद्र फ्लाई ऐश ब्रिक्स में 3752 घनमीटर रेत भंडारित मिला। इस संबंध में पूछे जाने पर संचालक द्वारा रेत की कुछ मात्रा का ही पिट पास दिखाया गया, जो कि भंडारित रेत की मात्रा से मिलान नहीं होना पाया गया। टीम द्वारा इसे अवैध रेत भंडारण करार देते हुए जब्ती की कार्रवाई की गई।

कलेक्टर के निर्देशन में राजस्व अधिकारियों की टीम ने ग्राम सारंगपुरी में शासकीय भूमि पर रेत भंडारित किया जाना पाया, वहीं भंडारण स्थल में तार फेंसिंग या ईंट की दीवार का घेरा व सुरक्षा एवं प्राथमिक चिकित्सा की सुविधा नहीं पाई गई। इसी तरह टीम में ग्राम अमेठी में अनुज्ञप्ति की शर्तों का पालन नहीं किये जाने के अलावा सुरक्षा, चिकित्सा जैसी मूलभूत सुविधाओं का अभाव पाया। इस पर गांव के सरपंच और कोटवार के संज्ञान में भण्डारणकर्ता की जानकारी नहीं होना बताया गया। अवैध रेत भंडारण के स्थल निरीक्षण की कार्रवाई करने वाली तीनों टीम क्रमशः धमतरी तहसीलदार पवन सिंह ठाकुर, नायब तहसीलदार विनोद कुमार साहू तथा चंद्र कुमार साहू के नेतृत्व में की गई, जिसमें राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी भी शामिल थे।