breaking news New

सलाखों में धान कैद: तीन महीने बाद भी सहकारिता विभाग से नहीं मिली जाँच रिपोर्ट, जाँच टीम से सहकारिता विभाग के अधिकारी राजेंद्र कुमार मेहर को हटाने की मांग

सलाखों में धान कैद: तीन महीने बाद भी  सहकारिता विभाग से नहीं मिली जाँच रिपोर्ट, जाँच टीम से सहकारिता विभाग के अधिकारी राजेंद्र कुमार मेहर को हटाने की मांग


सलाखों में धान कैद: तीन महीने बाद भी सहकारिता विभाग से नहीं मिली जाँच रिपोर्ट

जाँच टीम से सहकारिता विभाग के अधिकारी राजेंद्र कुमार मेहर को हटाने की मांग   

 

चमन प्रकाश केयर

 

रायपुर | आपने थाने में अपराध करने वालों को सलाखों के पीछे देखे होंगे लेकिन आज हम आपको एक ऐसा नज़ारा दिखाने जा रहे हैं जहाँ पर कोई अपराधी तो नहीं है लेकिन धान मंडी से चोरी के आरोप में जप्त करीब सौ बोरी धान को सलाखों के पीछे धकेल दिया है | समिति प्रबंधक मलर साहू जिन पर धान चोरी करने का आरोप है वह सलाखों के पीछे तो नहीं है बल्कि अधिकारियों की सरंक्षण से बाहर खुल्लेआम घूम रहा है | यही नहीं धान को गैर क़ानूनी रूप से परिवहन करने में शामिल वाहन पर भी कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है. वहीं जप्त धान सहकारिता विभाग की रिपोर्ट नहीं आने के चलते रिहाई का रास्ता देख रहा है. 

 

दरअसल में बलौदाबाजार जिले के तेलासी धान उपार्जन केंद्र में तीन महीने पहले मंडी से धान का अवैध परिवहन करते हुए ग्रामीण शैलेन्द्र करसायल और बसंत चेलक ने चपरीद के मिल में पकड़ा था | इस घटना के बाद शासन- प्रशासन में जमकर खलबली मची थी इसके बाद जिले के खाद्य विभाग ने इस पूरे प्रकरण की जाँच करने टीम गठित कीजिसमें सहकारिता विभाग के विस्तार अधिकारी एवं ग्रामीण सेवा सहकारी समिति तेलासी के प्राधिकृत अधिकारी राजेंद्र कुमार मेहर को ही जाँच टीम में लिया गया है | शैलेन्द्र करसायल ने बताया कि राजेंद्र कुमार मेहर समिति का ओईसी है और उनको ही जाँच टीम में शामिल किया गया है जो खुद प्राधिकृत अध्यक्ष है वह अपनी खुद जाँच कैसे करेगा.  इसे लेकर सीईओ राजेंद्र कुमार मेहर को जाँच टीम से हटाने की मांग कलेक्टर डोमन सिंह एवं खाद्य विभाग के नियंत्रक विमल दुबे से की गई है



कलेक्टर डोमन सिंह के पास हुई शिकायत में विस्तार अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद पर कई गंभीर आरोप लगाये है | शिकायतकर्ता शैलेन्द्र करसायल ने उल्लेख किया है कि 13 मार्च 2022 को तेलासी धान मंडी 1533 के समिति प्रबंधक मलर साहू द्वारा बिना सरकारी वैध कागजात के मंडी से धान का अवैध रूप से परिवहन कर चपरीद के सलासर बालाजी एग्रोटेक राईस मिल में करीब सौ बोरी धान को उपसरपंच दीनबंधु सोनावनी के माजदा वाहन से गिधपुरी थाना पुलिस ने बरामद किया था | इसकी जाँच कराने जिस तरह से जिले के खाद्य विभाग के नियंत्रक विमल दुबे ने तत्परता से रूचि दिखाई थी जब जाँच रिपोर्ट सौंपे हुए दो महीने से अधिक हो गये है | बावजूद इसके आरोपियों के खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई |


धान चोरी प्रकरण की जाँच की जा रही है समितियों की जाँच रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की जाएगी | तेलासी प्रकरण में ग्रामीणों के द्वारा शिकायत मिली है जो भी दोषी पायें जायेंगे उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी |

डोमन सिंह, कलेक्टर बलौदाबाजार

 

 

जिला कोर्ट के आदेश पर माजदा वाहन को छोड़ते हुए धान को थाने के अंदर रखे हुए है | रही बात बंदी गृह में रखने की तो धान किसकी है कौन इसमें दोषी है इसकी जाँच सहकारिता विभाग से कराने के लिए एसडीएम बलौदाबाजार पत्र लिखा है जिसकी जाँच प्रतिवेदन आज तक अप्राप्त है ऐसी स्थिति में धान को सुरक्षित रखना हमारी प्राथमिकता है |

 मनोहर कंवर, थाना प्रभारी गिधपुरी