breaking news New

सीईओ ने धान खरीदी केन्द्रों और गौठानों का किया निरीक्षण, मौके पर 6 किसानों का कटवाया टोकन

सीईओ ने धान खरीदी केन्द्रों और गौठानों का किया निरीक्षण, मौके पर 6 किसानों का कटवाया टोकन

सक्ती।  किसानों, ग्रामीणों, समूह की महिलाओं से व्यवस्थाओं के संबंध में रुबरु चर्चा की। जिला पंचायत  के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  गजेन्द्र सिंह ठाकुर ने  बम्हनीडीह विकासखण्ड की ग्राम पंचायत अफरीद के गौठान, आश्रित ग्राम मुडपार एवं ग्राम पंचायत बम्हनीडीह के धान उपार्जन केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने किसानों, ग्रामीणों, समूह की महिलाओं से  रू-ब-रू चर्चा की और योजनाओं के क्रियान्वयन का जायजा लिया।

उन्होंने अफरीद के आश्रित ग्राम मुड़पार में किसानों से चर्चा करते हुए धान उपार्जन केन्द्र की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने कृषकों एवं शाखा प्रबंधक से बारदानों की उपलब्धता और धान की आर्द्रता संबंधी जानकारी ली।

इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों को धान खरीदी केन्द्र में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं आनी चाहिए। उन्होंने धान खरीदी केन्द्र में पानी, छांव और बैठने की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। 

इस दौरान कोविड के नियमों का पालन किया जाए। उन्होंने 6 किसानों का टोकन मौके पर ही कटवाया और उनसे विस्तार से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने धान की तौल भी कराई। इसके बाद श्री ठाकुर ने  बम्हनीडीह धान उपार्जन केन्द्र का जायजा लिया।

उन्होंने किसानों से धान खरीदी की तैयारियों के संबंध में जानकारी ली तो सभी किसानों ने केन्द्र में की गई सारी तैयारियों के प्रति अपनी संतुष्ठी जाहिर करते हुए  सभी ब्यवस्थाओं को  संतोषजनक  बताया।  बम्हनीडीह जनपद पंचायत कार्यालय का निरीक्षण करते हुए उन्होंने कार्यालय में साफ-सफाई रखने के साथ ही जनपद पंचायत सीईओ  श्री कुबेर उपरेती से सभी योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। 

अफरीद गोठान का निर्माण कार्य‌शीघ्र  पूर्ण कराने के निर्देश-

अफरीद गोठान में निर्माणाधीन पशुशेड, मुर्गीशेड, मशरूम शेड, एसएचजी शेड का अवलोकन करते हुए कार्यों को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने गोठान में गोबर खरीदी के उपरांत उसे वर्मी टैंक में डालने के साथ ही उसे वर्मी खाद तैयार करने के बाद बोरियों में भरने के निर्देश दिए।

उन्होंने इस दौरान समूह की महिलाओं से चर्चा करते हुए कहा कि गौठान की रिक्त जमीन का अपने आर्थिक विकास के लिए अधिकतम उपयोग करें और उसमें सब्जी-भाजी आदि उगाएं।  उन्होंने गौठान में नेपीयर घास को पुनर्जीवित करने के निर्देश दिए।

गौठान में समूह की महिलाओं के द्वारा ड्रिप की मांग की गई, जिस पर  सीईओ ने उन्हें सिंचाई व्यवस्था का आश्वासन दिया। उन्होंने सचिव और गोठान समिति के सदस्यों से गोठान में अधिकाधिक वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए।